बिहार से नहीं गुजरेगी कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा, पार्टी ने इस कारण बनाई बिहार से दूरी

बिहार से नहीं गुजरेगी कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा, पार्टी ने इस कारण बनाई बिहार से दूरी

पटना. कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 7 सितम्बर से शुरू होने वाली है. मंगलवार को कांग्रेस ने यात्रा से जुड़े लोगो को भी लांच किया. हालांकि 3500 किलोमीटर वाली यह राष्ट्रव्यापी यात्रा बिहार से नहीं गुजरेगी. बिहार से यात्रा का नहीं गुजरना अपने आप में एक बेहद बड़ा सवाल है क्योंकि एक और पार्टी भारत जोड़ो यात्रा कर रही है. वहीं दूसरी और पार्टी ने बिहार जैसे राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण राज्य को इससे किनारे कर दिया है. 

दरअसल, इस यात्रा का बिहार से नहीं गुजरने का कारण है कि बिहार उन 12 राज्यों के रूट मैप में शामिल नहीं है जहां से यात्रा का मार्ग तय है. कांग्रेस ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक 3500 किलोमीटर लंबी पदयात्रा की औपचारिक घोषणा की. पार्टी ने इसे ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का नाम दिया है. 7 सितंबर 2022 से 150 दिनों तक चलने वाली ये यात्रा 12 राज्यों और 2 UT से जुड़ेगा और श्रीनगर में समाप्त होगा. इसका टैग लाइन ‘मिले क़दम जुड़े वतन’ है. यात्रा की लाइव स्ट्रीमिंग वेबसाइट पर उपलब्ध होंगी। भारत जोड़ो यात्रा में कांग्रेस के नेता पार्टी के झंडे का इस्तेमाल नहीं करेंगे, इसकी जगह तिरंगे का इस्तेमाल किया जा सकता है।


भारत जोड़ो यात्रा में तीन तरह के यात्री होंगे– इसमें भारत यात्री में 100 पदयात्री ऐसे होंगे जो पूरी यात्रा में होंगे. वहीं अतिथि यात्री के रूप में 100 लोग उन क्षेत्रों से होंगे जिस इलाके में यात्रा नहीं जा रही है. प्रदेश यात्री के रूप में जिस प्रदेश से यात्रा निकाल रही हो वहां से 100 यात्री होंगे. उन्होंने बताया कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भारत यात्री होंगे।

बता दें कि कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक की जाएगी। इस दौरान यह पैदल यात्रा 12 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरेगी। इसकी शुरुआत तमिलनाडु के कन्याकुमारी से होगी और यह यात्रा 3500 किलोमीटर की दूरी तय कर कश्मीर में समाप्त होगी। कांग्रेस के अनुसार इस यात्रा में सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि और समान विचारधारा के लोग शामिल हो सकते हैं। चुकी यात्रा के रूप में बिहार शामिल नहीं है इसलिए इसका बिहार आगमन नहीं होगा. हालांकि बिहार कांग्रेस से जुड़े लोग इस यात्रा में प्रतिनिधि के रूप में अतिथि यात्री के रूप में शामिल होंगे. 


Find Us on Facebook

Trending News