चिंतन शिविर के बीच ही बढ़ गई कांग्रेस की चिंता, सोनिया गांधी के खास नेता ने कांग्रेस को पहुंचाया ‘खटिया’ पर

चिंतन शिविर के बीच ही बढ़ गई कांग्रेस की चिंता, सोनिया गांधी के खास नेता ने कांग्रेस को पहुंचाया ‘खटिया’ पर

DESK. कांग्रेस के भविष्य को संवारने की जुगत में राजस्थान के उदयपुर में पार्टी का चिंतन शिविर चल रहा है. लेकिन इस चिंतन शिविर के बीच ही कांग्रेस की चिंता बढ़ गई. पार्टी के एक दिग्गज नेता न सिर्फ चिंतन शिविर के दौरान ही अपने इस्तीफे की घोषणा की है बल्कि कांग्रेस को सुझाव दिया है कि वह चिंतन शिविर नहीं बल्कि चिंता शिविर लगाए. 

कांग्रेस का बड़ा झटका दिया है पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ ने. उन्होंने शनिवार को पार्टी छोड़ने की घोषणा की. शनिवार को फेसबुक लाइव के दौरान जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व चापलूसों से घिरा हुआ है. इसकी वजह से कांग्रेस का नुकसान हो रहा है. जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस का चिंतन शिविर सिर्फ एक फॉर्मेलिटी से ज्यादा नहीं. जाखड़ ने कहा कि अगर वाकई चिंता होती तो कांग्रेस उत्तर प्रदेश में हार के लिए कमेटी बनाती. इसका कारण खोजती कि कैसे 403 में से 300 सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवार को 2 हजार वोट भी नहीं मिले. इससे ज्यादा वोट तो पंचायत के उम्मीदवार को ही मिल जाते है. उन्होंने कहा कि इसका जिम्मेदार उम्मीदवार नहीं बल्कि शीर्ष नेता और पार्टी नेतृत्व है, जिसने कांग्रेस की यह दुर्दशा की है.

पंजाब को लेकर भी उन्होंने सोनिया गांधी पर जमकर भड़ास निकाली और अंबिका सोनी को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा की अंबिका सोनी ने पंजाब को जाति और धर्म में बांट दिया. अंबिका सोनी ने यह कह कर कि पंजाब  का अपमान किया कि राज्‍य में कोई हिंदू नेता को सीएम बनाने पर पंजाब में आग लग जाएगी. 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की बुरी हालत है और यह खटिया पर है. अबोहर से लगातार 3 बार विधायक बनने वाले जाखड के पिता बलराम जाखड भी कांग्रेस नेता थे. उनका परिवार 50 साल से कांग्रेस से जुड़ा है. इस बार उनके भतीजे संदीप जाखड़ भी कांग्रेस के टिकट पर विधायक बने. लेकिन 50 साल के रिश्ते को अब जाखड ने तोड़ दिया है. 

कहा जा रहा है उनकी नाराजगी के कई कारण थे. नवजोत सिद्धू को पंजाब कांग्रेस प्रधान बनाने के लिए उन्हें कुर्सी से हटा दिया गया. इसी तरह कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हटाने के बाद जाखड़ को CM बनाने की तैयारी थी। हालांकि, अंबिका सोनी के सिख स्टेट सिख CM की बात कहने पर उनका पत्ता कट गया. इन्हीं कारणों से अब उन्होंने पार्टी छोड़ दी है. 


Find Us on Facebook

Trending News