जीएसटी को कांग्रेस ने बताया गृहस्थी सर्वनाश टैक्स, कहा कमरतोड़ महंगाई से परेशान है जनता

जीएसटी को कांग्रेस ने बताया गृहस्थी सर्वनाश टैक्स, कहा कमरतोड़ महंगाई से परेशान है जनता

GAYA : केंद्र की मोदी सरकार ने अब दही, पनीर, शहद, मांस, और मछली जैसे डिब्बा बंद और लेवलयुक्त खाध पदार्थों पर जी एस टी लेगी। साथ ही चेक जारी करने के एवज में बैंकों की तरफ से लिए जाने पर शुल्क पर भी जी एस टी देना पड़ेगा। इसके अलावा 1000 रुपए प्रतिदिन से कम किराया वाले होटल कमरों पर 12 प्रतिशत की दर से टैक्स लगाने का फैसला लिया है।


अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह क्षेत्रीय प्रवक्ता बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी प्रो विजय कुमार मिठू, पूर्व सांसद रंजीत सिंह उर्फ रंग बाबू, पूर्व विधायक मो खान अली, जिला उपाध्यक्ष राम प्रमोद सिंह, विद्या शर्मा, टिंकू गिरी, सैयद असरफ इमाम, डा अहमद हुसैन मक्की, श्रवण पासवान, संतोष कुशवाहा, लवी सिंह, संजय सिंह, अमरजीत कुमार ने कहा की एक ओर कमरतोड़ बेतहाशा महंगाई से आमजन त्राहि, त्राहि कर रहे है। वहीँ दूसरी ओर मोदी सरकार डीजल, पेट्रोल को जी एस टी के दायरे में लाने के बजाय नित्य दिन घर, घर में खाने पीने की सामग्री दही, पनीर, शहद, मांस, मछली आदि पर भी टैक्स लगा कर जी एस टी को गृहस्थी सर्वनाश टैक्स बनने का काम किया है।

नेताओ ने कहा की रोजमर्रा के सामानों पर टैक्स लगाने से देशवासियों में भयानक गुस्सा है। कांग्रेस पार्टी ने इसे अविलंब वापस लेने की मांग केंद्र सरकार से किया है। इसके जगह पर डीजल, पेट्रोल को जी एस टी के दायरे में लाने की मांग दोहराई है।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News