राफेल के हैंडओवर के दौरान राजनाथ के द्वारा किये गए पूजा पाठ को कांग्रेस ने बताया नौटंकी, कहा-सरकार ड्रामेबाजी में माहिर

राफेल के हैंडओवर के दौरान राजनाथ के द्वारा किये गए पूजा पाठ को कांग्रेस ने बताया नौटंकी, कहा-सरकार ड्रामेबाजी में माहिर

NEWS4NATION DESK : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दशहरे और वायुसेना दिवस के मौके पर मंगलवार को फ्रांस में देश के पहले राफेल फाइटर जेट को रिसीव किया। इस दौरान उन्होंने राफेल विमान पर 'ऊं' लिखा और दशहरे के मौके पर होने वाली पारंपरिक शस्त्र पूजा भी की। राफेल के पहियों के नीचे नींबू भी रखे गए। बाद में राजनाथ सिंह ने करीब आधे घंटे तक राफेल में उड़ान भी भरी।

इधर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के राफेल रिसीव करने और फ्रांस में शस्त्र पूजन किये जाने पर राजनीति शुरु हो गई है। कांग्रेस ने इस मामले पर सवाल उठाते हुए इसे मोदी सरकारी की ड्रामेबाजी करार दिया है।  

कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने कहा है कि वायुसेना के अधिकारी भी यह काम कर सकते थे। इतना ही नहीं, फ्रांस में राफेल के हैंडओवर सेरिमनी के दौरान शस्त्र पूजा करने, जेट पर 'ऊं' लिखे जाने समेत धार्मिक रीति-रिवाजों की तरफ इशारा करते हुए कहा है कि दशहरे से राफेल को जोड़ने का क्या तुक है। 

दीक्षित ने मोदी सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा कि यह कुछ भी ठोस किए बगैर हर चीज में ड्रामा करने में माहिर है। कांग्रेस नेता ने कहा, 'यह क्या बात हुई कि रक्षा मंत्री विमान को रिसीव कर रहे हैं, डिफेंस फोर्सेज से जुड़े लोगों को इसे रिसीव करना चाहिए। यह औरों की तरह सिर्फ एक हथियार है, जिसे आप खरीद रहे हैं। 

उन्होंने कहा है कि विजयादशमी का पूरा प्रसंग और राफेल एयरक्राफ्ट का आपस में कोई मेल नहीं है। यह ऐसा त्योहार है जिसे हम सभी मनाते हैं। आप इसे एक एयरक्राफ्ट के लाने से कैसे जोड़ सकते हैं? इस सरकार के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि बिना कोई ठोस काम किए हर चीज का नौटंकी बना देते हैं।'

Find Us on Facebook

Trending News