क्राइम सीरीज देखने के बाद सात साल पुरानी गर्लफ्रेंड की हत्या की रची साजिश, पुलिस से बचने के लिए इस तरह दिया घटना को अंजाम

क्राइम सीरीज देखने के बाद सात साल पुरानी गर्लफ्रेंड की हत्या की रची साजिश, पुलिस से बचने के लिए इस तरह दिया घटना को अंजाम

KORBA : टीवी पर दिखाए जाने वाले अपराधिक कार्यक्रमों का उद्देश्य लोगों को जागरुक करने का होता है। लेकिन यह सभी जानते हैं कि ऐसे कार्यक्रम अपराध को रोकने की जगह उसे बढ़ाने और बचने के तरीके बताते हैं। कुछ ऐसा ही मामला छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से सामने आया है। जहां एक युवक ने क्राइम पेट्रोल सीरियल देखकर अपनी सात साल पुरानी गर्लफ्रेंड की हत्या कर दी। इस दौरान बचने के लिए ऐसी साजिश रची कि पुलिसवाले भी हैरान रहे गए।

मामला जिले के कटघोरा थाना का बताया गया है। बताया गया कि थाना क्षेत्र के तुमान गांव में रहनेवाली कृष्णा गोस्वामी का सात साल से आमाभाठा निवासी संजय चौहान से अफेयर चल रहा था। उसके प्रेमी संजय चौहान का कृष्णा गोस्वामी के घर आना जाना भी था। पिछले कुछ दिनों पहले कृष्णा की दोस्ती कटघोरा के ही निमेन्द्र देवांगन से हो गई। कृष्णा की निमेंद्र से दोस्ती ऑनलाइन मोबाइल गेम के जरिए हुई थी। उसके बाद कृष्णा और निमेंद्र मोबाइल से और चैटिंग के जरिए बातचीत करने लगे। निमेन्द्र और कृष्णा के बीच हो रही बातचीत की भनक संजय को लग गई। इसके बाद संजय शनिवार को कृष्णा के घर पहुंचा और उसे मार डालने की धमकी दी। मृतका कृष्णा ने इसे ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया। 

प्रेमिका के फोन से किया मैसेज

लेकिन गुस्से की आग में जल रहे प्रेमी संजय के इरादे कुछ और थे। उसने क्राइम पेट्रोल सीरियल देखने के बाद हत्या की खतरनाक साजिश रची और शनिवार रात के डेढ़ बजे अपनी गर्लफ्रेंड के घर पहुंच गया और साड़ी से उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी। इस दौरान पुलिस की पकड़ से बचने के लिए डरा धमकाकर प्रेमिका के फोन से खुद के मोबाइल पर एक मैसेज करवाया। इस मैसेज में उसने जबरन लिखावाया कि मुझे बचा लो, मेरे पिताजी मुझे मार डालेंगे। सुबह जब घर वाले सो कर उठे तब मामले का पता चला। इसके बाद इसकी शिकायत कटघोरा थाने में दर्ज कराई गई।

बाप बेटी में चल रहा था विवाद

पूछताछ में ये बात सामने आई की कृष्णा के पिता उसकी शादी सूरजपुर में करना चाह रहे थे। लेकिन बेटी कृष्णा इस शादी को लेकर इनकार कर रही थी जिसे लेकर बाप-बेटी में अक्सर विवाद चलता रहता था।इस बात का फायदा आरोपी प्रेमी ने उठाने की कोशिश की 

पुलिस भी पिता को मान रही थी हत्यारा

आरोपी प्रेमी ने हत्या की साजिश इस तरह रची थी कि पुलिस भी युवती के पिता पर हत्या का शक जाहिर कर रही थी। कटघोरा पुलिस ने पहले कृष्णा के पिता दिगपाल से पूछताछ की, फिर भी पुलिस इस जांच को लेकर संतुष्ट नहीं थी। फिर संजय चौहान और निमेन्द्र देवांगन को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। सख्ती बरतने पर संजय ने अपना गुनाह कबूल कर लिया।

लोकेशन का चकमा देने के लिए घर पर छोड़ दिया फोन

इस पूरी हत्या की साजिश में जिस मोबाइल फोन की भूमिका महत्वपूर्ण थी, वह फोन ही सबसे बड़ी गलती साबित हुई। पुलिस की जांच में यह बात भी सामने आई कि संजय अपना मोबाइल कभी बंद नहीं करता था। कृष्णा के घर जाता था तो भी मोबाइल लेकर जाता था लेकिन घटना के दिन उसका मोबाइल बंद था और वह मोबाइल लेकर नहीं गया था। जिससे कि वो पुलिस की पकड़ से दूर रहे। लेकिन संजय की ये चालाकी भारी पड़ गई।



Find Us on Facebook

Trending News