बीएसपीएचसीएल ने किया वेबिनार का आयोजन, स्मार्ट प्री-पेड इलेक्ट्रिक मीटर पर उपभोक्ताओं को किया गया जागरूक

बीएसपीएचसीएल ने किया वेबिनार का आयोजन, स्मार्ट प्री-पेड इलेक्ट्रिक मीटर पर उपभोक्ताओं को किया गया जागरूक

PATNA : राज्य सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं के पुराने मीटरों को स्मार्ट प्री-पेड इलेक्ट्रिक मीटर से बदलने के लिए उच्चाकांक्षी कार्यक्रम शुरू किया है। इसी के तहत बिहार स्टेट पावर होल्डिंग कंपनी लिमिटेड (बीएसपीएचसील) के कार्यकारी अभियंतागण समेत सीनियर प्रोटोकॉल ऑफिसर ख्वाजा जमाल द्वारा उपभोक्ताओं को स्मार्ट प्री-पेड मीटर पर जागरूक करने हेतु ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन किया गया। बिहार में बिजली की खपत 6600 मेगावाट से अधिक हो गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दूरदर्शी मार्गदर्शन में स्मार्ट प्रीपेड मीटर (एसपीएम) की स्थापना का अभियान बिहार में युद्ध स्तर पर चल रहा है। स्मार्ट प्री-पेड मीटर लगाने का काम मुजफ्फरपुर से शुरू किया गया था और अब इसे पूर्णिया, समस्तीपुर, वैशाली, नालंदा, गया और अन्य जिलों तक बढ़ा दिया गया है।

इस संदर्भ में उपभोक्ताओं की स्मार्ट प्री-पेड मीटर से जुड़ी भ्रांतियां दूर करने के लिए फेसबुक लाइव के माध्यम से वेबिनार का आयोजन किया गया। जिसमें तमाम अभियंतागण द्वारा स्मार्ट प्री-पेड मीटर के उपयोग एवं फाइदे पर विस्तार से चर्चा की गयी और स्मार्ट प्रीपेड मीटर पर उपभोक्ताओं के सवाल का बारीकी से जवाव दिया गया। अमरेश कुमार, स्टेट हेड, ईईएसएल ने बताया कि स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने की शुरुआत हमनें फरवरी 2019 से की थी। स्मार्ट प्रीपेड मीटर एक सेंट्रल सर्वर के माध्यम से कार्य करता है। साथ ही यह उपभोक्ताओं को पारदर्शिता के साथ बिजली प्रदान करने में मदद करती है। उपभोक्ता अपने डेली विद्युत उपभोग को देख सकते हैं और अपनी तरफ से बिजली खर्च को नियंत्रित कर सकते हैं।

स्वामी शरण प्रसाद, ईईई, एनबीपीडीसीएल ने बताया कि बिहार में अभी कुल 23.5 लाख मीटर लगाने का लक्ष्य है। स्मार्ट प्रीपेड मीटर और पुराने मीटर में कोई फर्क नहीं है, सिर्फ इसके कि अब हम सर्वर के माध्यम से कम्युनिकेट करेंगे। स्मार्ट प्रीपेड मीटर के माध्यम से दोनों डिस्कॉम को भी रेवेन्यू कलेक्शन में सुविधा होगी और उपभोक्ता भी अपनी बिजली खपत देख सकते हैं। सुजीत कुमार, ईईई, एनबीपीडीसीएल ने बताया कि उपभोक्ता के मीटर का बैलेंस जब उसके साथ दिन के औसत खपत से कम रह जाता है तो उपभोक्ता को एसएमएस एवं ऐप के माध्यम  से रिचार्ज हेतु सूचित किया जाता है। मीटर से बिजली काटने के उपरांत उपभोक्ता द्वारा रिचार्ज करने पर बिजली स्वतः बहाल हो जायेगी। 

इस दौरान कंपडिसकॉम  मैनेजर/ कम्युनिकेशन एक्सओर्ट रवि, कार्यकारी अभियंता सुजीत कुमार एवं मनीष कांत समेत सहायक कार्यपालक अभियंता अमित कुमार और इंटेलआईस्मार्ट के सीनियर अफसर रिपोर्टिंग & आपरेशन माहेश्वरी वेबिनार को संबोधित किया।

Find Us on Facebook

Trending News