कोरोना बंदी से नेपाल और बिहार के बीच रोटी-बेटी के रिश्ते पर लगा ग्रहण, बॉर्डर पर लगी पाबंदी से शादी में आ रही परेशानी

कोरोना बंदी से नेपाल और बिहार के बीच रोटी-बेटी के रिश्ते पर लगा ग्रहण, बॉर्डर पर लगी पाबंदी से शादी में आ रही परेशानी

डेस्क....  कोरोना बंदी ने नेपाल और बिहार के बीच रोटी और बेटी के रिश्ते पर ग्रहण लगा दिया है। इन दिनों शादियों के मौसम में लोगों का उस तरफ और इस तरफ से जाना-आना हो रहा है। ऐसे में बॉर्डर के उस पार से ना कोई गाड़ी आ सकती है और ना कोई गाड़ी जा सकती है। गाड़ियों के आवाजाही पर रोक लगने से लोगों को काफी मुश्किलों का सामाना करना पड़ रहा है और बॉर्डर पर ही गाड़ी को छोड़कर पैदल इस पर से उसपार जाना पड़ रहा है। 

जानकारी के मुताबिक रक्सौल में भारत-नेपाल बॉर्डर पर शादी विवाह के मौके पर भी सन्नाटा पसरा हुआ है। बंदिशों के कारण दोनों तरफ की गाड़ियों को आने-जाने में मुश्किलें हो रही हैं। ऐसे में यात्रियों को पैदल ही बॉर्डर क्रॉस करना पड़ रहा है। तभी उन्हें आगे जाने के लिए गाड़ियां मिल पाती हैं। किसी को जरूरी काम से नेपाल जाना हो या नेपाल से बिहार आना हो तो इस बंदिश ने सब की मुश्किलें बढ़ा कर रख दिया है। नेपाल से आने वाले लोगों को नेपाल में ही गाड़ी रोकनी पड़ती है और बिहार से आने वालों को बिहार में ही गाड़ी छोड़नी पड़ती है। 

दरअसल कोरोना को लेकर दोनों तरफ की सरकार ने कुछ पाबंदियां लगा रखी हैं। ऐसे में लोगों को गाड़ी लेने के लिए बॉर्डर पार कर पैदल जाना पड़ता है और उसी देश की गाड़ी को हायर करना पड़ता है, जिसके लिए उन्हें काफी कीमत चुकानी पड़ती है।  

फिलहाल, अनलॉक का दौर चल रहा है, लेकिन कोरोना के नाम पर बॉर्डर पर जिस तरह से आवाजाही की बंदी लगाई गई है। उसका खामियाजा बिहार के साथ नेपाल के बांशिदों को भुगतना पड़ रहा है

Find Us on Facebook

Trending News