कोरोना ने लगातार दूसरी बार जगन्नाथ यात्रा पर लगा दी रोक, 40 साल में पिछले साल पहली बार टूटी थी परंपरा

कोरोना ने लगातार दूसरी बार जगन्नाथ यात्रा पर लगा दी रोक, 40 साल में पिछले साल पहली बार टूटी थी परंपरा

GAYA : गया भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा पर भी कोरोना का ग्रहण लग गया है। आषाढ़ माह की शुक्लपक्ष की द्वितीय तिथि को श्रद्धा और सत्कार के साथ भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा की प्रखंड के गुरुआ बाजार में रथ यात्रा निकाली जाती है। इस बार यह तिथि 12 जुलाई को पड़ रही है। कोरोना महामारी को देखते हुए गुरुआ बाजार स्थित कृष्ण राधिका मंदिर से भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा नहीं निकाली जाएगी। यहां करीब 40 वर्ष से यह यात्रा निकलती रही है।

जगन्नाथ रथ यात्रा संचालक कृष्ण देव पांडेय ने बताया कि पिछले वर्ष की तरह इस बार भी यात्रा नहीं निकाली जाएगी। मंदिर के बाहर सिंघासन पर भगवान की मूर्ति स्थापित की जाएगी। जिससे भक्त भगवान के दर्शन कर सकें। पूजा अर्चना कर सकेगें।

बता दें गया में जगन्नाथ यात्रा का अलग ही महत्व है। हर साल इस दौरान बड़ी संख्या में लोग भगवान जगन्नाथ के दर्शन के लिए पहुंचते रहे हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News