दिल्ली स्थित एशिया के सबसे बड़े ऑटो स्पेयर पार्ट्स बाजार पर कोरोना की मार, लेबर नहीं मिलने से 50% गिरा उत्पादन

दिल्ली स्थित एशिया के सबसे बड़े ऑटो स्पेयर पार्ट्स बाजार पर कोरोना की मार, लेबर नहीं मिलने से 50% गिरा उत्पादन

N4N DESK : कोरोना ने पूरी दुनिया समेत भारत में तबाही मचा रखी है। इस वायरस से सारा कुछ उथल-पुथल हो गया है। ऱाष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ऑटो स्पेयर पार्ट्स उत्पादन का एक प्रमुख केंद्र है। वहीं, दिल्ली में एशिया का सबसे बड़ा ऑटो स्पेयर पार्ट्स  का थोक बाजार कश्मीरी गेट मार्केट भी है। लेकिन कोरोना के कारण हुई बंदी और उपजी अनिश्चितताओं ने इस उद्योग को काफी प्रभावित किया है। 

मौजूदा समय में कुशल मजदूरों का संकट झेल रहे इस उद्योग में औद्योगिक इकाइयों का उत्पादन 50 फीसदी तक गिर गया है। दिल्ली में ऑटो स्पेयर पार्ट्स से जुड़े उद्यमियों के अनुसार, राजधानी में इस उद्योग से जुड़ी 10 हजार से अधिक इकाइयां संचालित हो रही हैं। यहां कोरोना काल से पहले तक सालाना करीब छह हजार करोड़ का कारोबार होता था। लेकिन कोरोना काल में बंदी के बाद यह 100 करोड़ प्रतिमाह के करीब रह गया है। 

दिल्ली में ऑटो स्पेयर पार्ट्स के प्रमुख उद्यमी व ऑटोमोटिव पार्ट्स मर्चेंट एसोसिशन कश्मीरी गेट के पूर्व अध्यक्ष के मुताबिक, बंदी के समय बड़ी संख्या में मजदूरों ने अपने घरों की तरफ पलायन किया था। अधिकतर मजदूर अभी तक वापस नहीं लौटे हैं। इस उद्योग में निर्माण के लिए कुशल मजदूरों की आवश्यकता होती है। कोरोना से पहले हमारी इकाई में 32 कुशल मजदूर उत्पादन और निर्माण कर रहे थे, लेकिन मौजूदा समय में 15 मजदूर ही उत्पादन में लगे हैं। इस वजह से उत्पादन प्रभावित हो रहा है।

ऑटो स्पेयर पार्ट्स के उद्यमियों का कहना है कि कुशल मजदूरों के संकट से उत्पादन की लागत भी बढ़ गई है। सामान्य दिनों की तुलना में किसी भी तरह के उत्पादन में 15 फीसदी तक का खर्चा बढ़ गया है। वहीं, उद्योग को नकदी संकट का भी सामना करना पड़ रहा है। कई उद्यमियों का पिछला पैसा अभी बाजार में ही फंसा हुआ है।

बता दें कश्मीरी गेट थोक बाजार से ऑटो स्पेयर पार्ट्स की पंजाब, राजस्थान, तेलांगना, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड के अलावा विश्व के कई शहरों में आपूर्ति होती है।

Find Us on Facebook

Trending News