कोरोना को दूसरी बार मात देकर घर लौटे पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह, डॉक्टरों ने दी 14 दिन होम आइसोलेशन की सलाह

कोरोना को दूसरी बार मात देकर  घर लौटे पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह, डॉक्टरों ने दी 14 दिन होम आइसोलेशन की सलाह

JAMUI : बिहार सरकार के पूर्व कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह दूसरी बार कोरोना को मात देकर सकुशल वापस घर लौठ आए हैं। कोरोना संक्रमित होने के बाद 27 अप्रैल को उन्हें पटना के एम्स में भर्ती कराया गया था। सोमवार को एम्स से उन्हें रिलीज किया गया। लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें 14 दिन होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी है।

इस बीच पटना से दूरभाष पर बात करते हुए पूर्व कृषि मंत्री ने कहा कि बिहार की जनता के आशीर्वाद, प्यार और शुभकामनाओं के ताकत पर दूसरी बार कोरोना  महामारी को पराजित कर अस्पताल से घर वापस आया हूं। उन्होंने कहा कि उनकी ताकत और सहारा पूरे बिहार की जनता है। उन्हें उनकी ओर से बिहार की जनता को कोटि-कोटि नमन।

विदित हो कि 78 साल के वयोवृद्ध समाजवादी नेता व पूर्व कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह चुनाव के वक्त भी कोरोना संक्रमित हुए थे और बेहतर इलाज के बाद उस वक्त भी उन्होंने कोरोना को मात दी थी। बातचीत में पूर्व कृषि मंत्री ने कहा कि एम्स में भर्ती होते हुए भी उन्होंने खुद से ज्यादा समाज की चिंता की। उन्होंने कहा कि वो एम्स से ही कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए अस्पताल में बेड, अस्पतालों में वेंटिलेटर को चालू करने को लेकर टेक्नीशियन की व्यवस्था करना, निजी अस्पतालों को सरकारी नियंत्रण में लेकर कोविड अस्पताल बनाने के लिए चिकित्सा विभाग में नये बहाली करने के लिए लगातार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से फोन के माध्यम से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि एम्स में भर्ती रहने के दौरान संबंधित अधिकारियों को कोरोना को लेकर कई पत्र लिखा। जिससे कोरोना संक्रमित मरीजों को निजात मिल सके। उन्होंने कहा कि एम्स में भर्ती होने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीयों से कह कर सैकड़ों लोगों को बेड दिलाने का काम किया।

पूर्व कृषि मंत्री ने कहा कि एम्स से वापस लौटने पर सड़क पर बिहार के जनता की चीख-पुकार व चित्कार सुनकर उनका ह्दय व्यथित हो जाता है कि कैसे अस्पताल तथा स्वास्थ्य विभाग की कुव्यवस्था के कारण लोगों की जान जा रही है। उन्होंने कहा कि बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों को सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर पटना के चार बड़े आवासीय होटल संचालकों से बात की है तथा 400 कमरे कोविड रोगियों के लिए मुफ्त में दिलाने के लिए तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एम्स से वापस आने के बाद लगातार स्वास्थ्य विभाग तथा मुख्यमंत्री को इन होटलों में मेडिकल टीम गठित करने को लेकर पत्राचार किया है। साथ ही लगातार मुख्यमंत्री से संपर्क करने की कोशिश में लगे हैं लेकिन संपर्क नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार उनके इस प्रस्ताव को स्वीकार करती हैं तो कोरोना संक्रमित मरीजों को 400 बेड मिल सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार को इन होटलों में सिर्फ मेडिकल टीम और मेडिकल उपकरण की व्यवस्था करनी है।

जमुई से राकेश कुमार सिंह की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News