कोरोना निगेटिव हुए उप मुख्यमंत्री ने एनडीए कार्यकर्ताओं के साथ खाया दही चूड़ा भोज

कोरोना निगेटिव हुए उप मुख्यमंत्री ने एनडीए कार्यकर्ताओं के साथ खाया दही चूड़ा भोज

पटना. मकर संक्रांति पर बिहार में राजनीतिक दलों द्वारा समर्थकों को दही चूड़ा भोज करने की परम्परा रही है. हालाँकि इस बार कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए कई राजनीतिक दल और नेता इस प्रकार के भोज से बच रहे हैं. लेकिन बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने शुक्रवार को परम्परा का निर्वहन करते हुए कटिहार में समर्थकों संग दही चूड़ा भोज का आनंद लिया. तारकिशोर प्रसाद कुछ दिन पहले कोरोना पॉजिटिव भी हुए थे लेकिन अब वे पूरी तरह स्वस्थ हैं. 

उन्होंने ट्वीट कर मकर संक्रांति की शुभकामनाएं दी. उनकी ओर से किये गये ट्वीट में कहा गया, कटिहार स्थित आवास पर एनडीए के कार्यकर्ताओं संग मकर संक्रान्ति के अवसर पर दही चुड़ा भोज का आयोजन हुआ. इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री ने सभी लोगों को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं दी एवं राज्य की सुख-समृद्धि की कामना की. इसके पूर्व एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, मकर सक्रांति के पावन पर्व की आप सभी को मंगलमय शुभकामनाएं. श्रद्धा, हर्ष, उमंग व उत्साह का यह पर्व आप सभी के जीवन मे सुख, शांति व समृद्धि लाए.

बिहार में 14 और 15 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जा रही है. शुभ मुहूर्त के अनुसार शुक्रवार रात 8 बजे के बाद संक्रांति का शुभ समय शुरू होगा. वहीं 15 जनवरी को स्नान दान और तिल दान का विधान होगा. इसी दिन लोग खिचड़ी खाने का विधान भी करेंगे. 

देश में नए फसलों के आगमन पर मकर संक्रांति मनाई जाती है. बिहार में भी धान की नई फसल आने की ख़ुशी में लोग दही चूड़ा खाते हैं. इस दिन तिल से बने व्यंजन खाने की परम्परा रही है और उसी अनुरूप बिहार में तिलकुट खाया जाता है. तारकिशोर ने भी अपने समर्थकों संग दही चूड़ा के साथ ही तिलकुट आदि व्यंजनों का आनंद लिया. 


Find Us on Facebook

Trending News