गन्ने के खेतों के बीच गुपचुप तरीके से चल रही थी देसी शराब बनाने की फैक्ट्री, धंधे के तरीके को देख पुलिस भी हो गई चकित

गन्ने के खेतों के बीच गुपचुप तरीके से चल रही थी देसी शराब बनाने की फैक्ट्री, धंधे के तरीके को देख पुलिस भी हो गई चकित

BAGHA : खबर प.चम्पारण के बगहा पुलिस जिला के रामनगर से है. जहां  थानाध्यक्ष के नेतृत्व में धोखरहा पंचायत के चरघारवा गाँव के सरेह मे छापेमारी कर दो देसी शराब कारखानें (मिनी फैक्ट्री )का उद्भेदन किया। सूचना के बाद देसी शराब तस्करों के ठिकाने पर छापेमारी कर भारी मात्रा में अर्धनिर्मित शराब नष्ट किया। 

तस्कर पुलिस की आंख में धूल झोंकने के लिए गन्ने की फसल के बीचोंबीच मशीन लगा शराब तैयार करते थे। बड़ी सतर्कता से वे अपने काम को अंजाम देते थे। जहां शराब को रखने के लिए जमीन में गड्ढा खोद इसमें ड्रम रख देते थे। उसी में शराब को रखकर तैयार किया जाता था। इस कारण गांव से दूर खेतों के बीच इस कारखानें का पता नहीं चल पाया था। 

सरेह के बीच स्थित इस मिनी कारखानें पर अधिकांश लोगों की नजर इसी वजह से नहीं पड़ती थी. इस वजह से तस्करों का व्यापार आसानी से फलफूल रहा था. इस संबंध मे रामनगर एसडीपीओ सत्यनारायण राम ने बताया कि चरघरवा गांव से दो मिनी देशी शराब फैक्ट्री निर्माण की कारखाना मिला है. 

तीन हजार लीटर चुलाई अर्धनिर्मित शराब विनष्ट की गई है. इसकों बनानें में इस्तेमाल मशीनों को भी बरामद किया गया है. पुलिस की भनक पाकर तस्कर मौके से फरार हो गए. उनकी  शिनाख्त की कोशिश जारी रही है । जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा शिनाख्त कर ।

Find Us on Facebook

Trending News