स्वदेश निर्मित कोवैक्सिन और कोविशिल्ड के इस्तेमाल को मिली मंजूरी, पीएम ने कहा - कांग्रेचुलेशन इंडिया

स्वदेश निर्मित कोवैक्सिन और कोविशिल्ड के इस्तेमाल को मिली मंजूरी, पीएम ने कहा - कांग्रेचुलेशन इंडिया

नई दिल्ली। आखिरकार कोरोना वैक्सीन को लेकर महीनों से चल रहा इंतजार खत्म हो गया है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने भारत बायोटेक की स्वदेश निर्मित कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीच्यूट के इमरजेंसी यूज को मंजूरी दे दी है। डीजीसीआई वीजी सोमानी ने प्रेस वार्ता के दौरान इस बात की जानकारी दी। वहीं देश के कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद प्रधानमंत्री ने भी ट्वविट किया है। उन्होंने कोरोना वैक्सीन के लिए देश को बधाई दी है। 

सारी आशंकाओं को बताया गलत

दोनों वैक्सीन को लेकर चल रही आशंकाओं को खारिज करते हुए सोमानी ने कहा कि कुछ साइड इफेक्ट जैसे- हल्का बुखार, दर्द और एलर्जी हर वैक्सीन में कॉमन होते हैं, लेकिन ये दोनों वैक्सीन 110% सुरक्षित हैं। वैक्सीन से नपुंसक होने जैसी बातें बकवास हैं। वहीं WHO ने भी दवा मंजूरी को लेकर सरकार के फैसले का स्वागत किया है। संस्थान की साउथ-ईस्ट एशिया की रीजनल डायरेक्टर डॉ. पूनम क्षेत्रपाल सिंह ने कहा कि भारत के इस फैसले से साउथ-ईस्ट एशिया में महामारी के खिलाफ लड़ाई मजबूत होगी। 

पीएम मोदी ने दी बधाई- कहा हमारे लिए गर्व की बात 

भारत में कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करने के लिए ये एक निर्णायक मोड़ है. डीजीसीआई ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक की वैक्सीन को मंजूरी देकर एक स्वस्थ और कोरोना-मुक्त राष्ट्र का मार्ग प्रशस्त किया है. उन्होंने कहा कि यह हर भारतीय के लिए गर्व की बात है कि जिन दो वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है, वो भारत में बनी हैं. यह हमारे वैज्ञानिक समुदाय की उत्सुकता को दिखाता है कि वो आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के लिए कितनी मेहनत कर रहे हैं।

इसी सप्ताह हो सकता है प्रयोग

कोरोना पर बनी सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ने शनिवार को भारत बायोटेक की कोवैक्सिन को इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए सशर्त मंजूरी देने की सिफारिश की थी।  दोनों को मंजूरी मिलने से अब उम्मीद जताई जा रही है कि इसी हफ्ते से वैक्सीनेशन ड्राइव भी शुरू हो जाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News