नीतीश सरकार लोगों के स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रति बिल्कुल बेपरवाह : सीपीएम

नीतीश सरकार लोगों के स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रति बिल्कुल बेपरवाह : सीपीएम

KHAGDIA : सीपीएम के राष्ट्रव्यापी आंदोलन के आहवान पर 16 सूत्री मांगों को लेकर अंतिम दिन आज खगड़िया समाहरणालय पर जोरदार प्रदर्शन किया गया. 20 अगस्त को इसकी शुरुआत पंचायत स्तर के धरना से हुई थी, जो आज प्रखंड से लेकर समाहरणालय तक पहुंचा. इस मौके पर सीपीएम जिला कार्यालय से करीब 100 लोगों का जुलूस सरकार के जनविरोधी नारे लगाते हुए समाहरणालय पहुंचा. मौके पर प्रदर्शन को संबोधित करते हुए जिला सचिव ने कहा की आज जब जरूरत इस बात की थी की कोरोना महामारी के चलते सरकार लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए बेहतर कदम उठाती. लेकिन ऐसा ना कर चुनावी अभियान में लगी है. 

उन्होंने कहा की यह सरकार आम जनों की स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर बिल्कुल बेपरवाह है. उन्होंने कहा की महामारी के चलते एक तरफ गरीबों को काम नहीं है. जिस कारण उनके सामने रोजी रोटी की समस्या खड़ी हो गई है. वहीं दूसरी ओर केंद्र की मोदी सरकार इसी समय रेल से लेकर सभी सरकारी उपक्रमों को बेचने या निजी हाथों में सौंपने पर आमदा है. 

किसानों के मक्के उनके घरों में पड़े खरीददार का बाट जोह रहा है. यदि खरीददार है भी तो उचित कीमत नहीं है. ऐसे में किसानों के सामने कर्ज का बोझ उनका जीना हराम किए हुए है. युवाओं के रोजगार के सारे अवसर एक के बाद एक लगातार समाप्त की जा रही है. जिससे निराश होकर युवाओं का एक हिस्सा अपराध की तरफ बढ़ रहा है. उन्होंने कहा की खगड़िया जिला हाल के दिनों में एक तरफ कोरोणा का तो दूसरी तरफ बाढ़ का दंश झेल रहा है. लेकिन सरकार ना तो कोरॉना के मोर्चे पर लोगों के जांच या इलाज करबा रही है और ना ही बाढ़ पीड़ितों का उचित मदद कर पा रही है. बाढ़ के कारण किसानों के खेत में लगे फसल पूरी तरह बर्बाद हो गए हैं. जबकि हजारों गरीबों के झोपड़ी बाढ़ में बह गए हैं. 

संजय कुमार ने कहा की महामारी का प्रभाव जब तक है सरकार सभी जरूरतमंदों को 10 किलो प्रतिमाह गेहूं और 7500 रुपए मुहैया कराए. खगड़िया जिला को तुरंत बाढ़ ग्रस्त घोषित करे. मौके पर उन्होंने कहा की लॉक डाउन अवधि में हमारे जिला नेता कामरेड जगदीशचद्र बसु की हत्या अपराधियों ने सामंतों के इशारे पर कर दिया. लेकिन आरोपी छुट्टा घूम रहा है. ठीक इसी तरह हमारे दूसरे साथी राधे सिंह की हत्या भी अपराधियों ने इसी दौरान कर दिया. लेकिन वह भी बेखौफ घूम रहा है. उन्होंने लाभ गांव में वर्षो से बसे सैकड़ों गरीब लोगों के पर्चे जल्दी प्रशासन से देने को कहा. भारी बारिश के कारण जिले भर की सड़कें जर्जर हो चुकी है. जिसके पुनर्निर्माण नहीं करने को लेकर भी सरकार को घेराव किया गया.

खगडिया से अनिश कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News