कार चोरी करने के लिए क्रेन ही खरीद लिया, उड़ाए 100 से अधिक कार

कार चोरी करने के लिए क्रेन ही खरीद लिया, उड़ाए 100 से अधिक कार

NEWS4NATION DESK : कार की चोरी के लिए क्रेन का इस्तेमाल किया जा सकता है यह जानकर आप चौक सकते हैं लेकिन यह सच है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सड़कों पर क्रेन लेकर घूम रहा है कार चोरों का कुख्यात गैंग। इसका खुलासा सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट में क्रेन समेत पकड़े गए एक शातिर गैंग से हुआ है। 

दरअसल दिल्ली के डीबीजी रोड इलाके में रोड किनारे खड़ी एक स्विफ्ट कार को क्रेन से टोह कर ले जा रहे थे। क्रेन से बंधी कार के टायर सड़क पर घसीटते, रगड़ते देख पुलिस को शक हुआ। क्रेन में सवार तीन आरोपियों की पहचान छतरपुर निवासी घेवरराम, शाकिर और राजस्थान के जयपुर टोंक निवासी सुनील कुमार के रूप में हुई है।

पुलिस अफसरों के मुताबिक, हरीश कुमार शर्मा परिवार समेत गन्नौर सोनीपत में रहते हैं। इनके बड़े भाई सुरेंद्र आर्मी में हैं। उन्हीं की स्विफ्ट कार है। बुजुर्ग पिता को सीने में दर्द की शिकायत पर सोमवार शाम को जीबी पंत अस्पताल में लेकर आए थे। वहां से हरीश कार लेकर साढ़े चार बजे सदर बाजार के लिए निकले। उन्हें कुछ जरूरी सामान लेना था। रानी झांसी रोड फ्लाइओवर के नीचे यलो लाइन के अंदर कार को पार्क करके सदर बाजार चले गए।
 
चार घंटे की खरीदारी कर वह कार के पास पहुंचे। वहां से उनकी कार गायब मिली। उन्हें लगा कि कार को ट्रैफिक पुलिस ने उठा लिया है, लेकिन पुलिस से पूछताछ करने पर कार उठाने से मना कर दिया। उसके बाद दो घंटे तक इधर-उधर तलाश किया। फिर सौ नंबर पर पुलिस को कॉल कर दी। पुलिस के जरिए मालूम चला कि सिद्धीपुरा चौकी में इस नंबर की कार खड़ी है, वहां पहुंचने पर कार दिख गई। जिसे क्रेन से उठाकर लाया गया था। 

पुलिस ने बताया कि कुछ दिन से शिकायत मिल रही थी कि ट्रैफिक पुलिस की तरह कुछ लोग क्रेन से कार को उठाते हैं और फिर चोरी कर फरार हो जाते हैं। डीबीजी रोड थाने का स्टाफ अलर्ट था। हरीश की कार के हैंड ब्रेक लगे हुए थे। कार के पिछले टायर घसीटते हुए सड़क पर जा रहे थे, जिससे वहां गश्त कर रहे हेड कॉन्स्टेबल सुरेंद्र को शक हुआ।

कॉंस्टेबल ने क्रेन को रोका और उसमें सवार तीनों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में बदमाशों ने खुलासा किया कि गाड़ियों की चोरी करने के बाद उसे मेरठ और गाजियाबाद के कबाड़ियों को बेच देते थे, जो गाड़ियों को काटने के बाद उसके पार्ट्स को बेचते थे। पुलिस गैंग में शामिल अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है।

पूछताछ में एक के बाद एक जो हकीकत खुली, उसे सुनकर पुलिस भी सन्न रह गई। आरोपियों को टीवी पर क्राइम सीरियल देखने की लत लगी हुई है। वहीं से आइडिया लेकर दिल्ली में 100 से ज्यादा कारें क्रेन से टोह कर ठिकाने लगा चुके हैं। पकड़े जाने से कुछ देर पहले एक होंडा सिटी कार को भी इसी तरह टो कर ले गए थे। आरोपियों का नेटवर्क कई राज्यों के गैंग और रिसीवरों से है।

Find Us on Facebook

Trending News