CRIME NEWS: हादसा नहीं हत्या ! डीएसपी की सर्विस रिवाल्वर से युवक की मौत मामले में आया ट्विस्ट, आरोपी डीएसपी समेत तीन गिरफ्तार, मृतक के पिता ने कहा, पुरानी रंजिश में ले ली मेरे बेटे की जान

CRIME NEWS: हादसा नहीं हत्या ! डीएसपी की सर्विस रिवाल्वर से युवक की मौत मामले में आया ट्विस्ट, आरोपी डीएसपी समेत तीन गिरफ्तार, मृतक के पिता ने कहा, पुरानी रंजिश में ले ली मेरे बेटे की जान

पटना: झारखंड के कोडरमा जिले में शुक्रवार देर शाम बिहार के प्रशिक्षु डीएसपी के सर्विस रिवॉल्वर से युवक की हुई मौत के मामले में नया मोड आ गया है। दरअसल मृतक के पिता अनिसाबाद निवासी ऋषिदेव प्रसाद सिंह ने कहा है कि मेरे पुत्र के साथ इनकी पिछले दो-तीन सालों से रंजिश थी। एक बार पैसे के लेनदेन में घर वालों को पैसा चुकाना 

पड़ा था। प्रशिक्षु डीएसपी नये तरीके से पैसे की मांग कर रहा था, जिसके कारण मेरा पुत्र निखिल परेशान रहता था और दोस्ती को खत्म करना चाहता था लेकिन किसी अज्ञात कारण से उनके साथ चला गया। इधर शुक्रवार को युवक निखिल रंजन के मौत के मामले में डीएसपी समेत तीन युवकों पर हत्या की एफआइआर दर्ज की गयी है और शनिवार को डीएसपी समेत तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर कोडरमा जेल भेज दिया गया। बता दें कि मृतक निखिल रंजन के पिता गया जिले के चेरखी थाने में एसआई के पद पर कार्यरत हैं।

मामले में मृतक निखिल रंजन (26 वर्ष, निवासी बेऊर पटना, बिहार) के पिता ऋषिदेव प्रसाद सिंह द्वारा प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। इसमें प्रशिक्षु डीएसपी आशुतोष कुमार (चेनारी, रोहतास), सौरव कुमार (बेऊर, पटना) और सूरज कुमार (कोडरमा) को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। मृतक के पिता ने प्राथमिकी में कहा है कि आठ जुलाई को उनके पुत्र को शाम छह बजे बिहार शरीफ में इंगेजमेंट में ले जाने को कह कर घर से बुलाकर ले गया था। इससे पहले निखिल रंजन को 30 जून को भी आशुतोष अपने दोस्तों के साथ खगौल, पटना लेकर गया था। सिंह ने यह भी कहा है कि निखिल रंजन की हत्या आशुतोष कुमार उसके साथी सौरव कुमार और सूरज कुमार ने आपराधिक षड्यंत्र और रंजिश के तहत नौ जुलाई की शाम अपने सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर तिलैया डैम के पास कर दी गई। घटना का मुख्य आरोपी आशुतोष कुमार है।

जाने क्या है मामला

दरअसल बिहार के बक्सर जिले में प्रशिक्षु डीएसपी आशुतोष कुमार की सर्विस रिवॉल्वर से अचानक गोली चलने से उसके मित्र निखिल रंजन की मौत हो गयी थी। घटना के बाद सनसनी फैल गयी थी और देर रात तक इस मामले में उहापोह की स्थिति बनी रही। जानकारी के अनुसार प्रशिक्षु डीएसपी आशुतोष कुमार अभी सिमरी थाना के प्रभार में हैं। वे दो दिन की छुट्टी पर बक्सर से निकले थे और निजी वाहन से अपने तीन दोस्तों को लेकर कोडरमा के तिलैया डैम घूमने आये थे। डैम में घूमने के बाद सभी जवाहर घाटी के किनारे फोटो क्लिक कर रहे थे। डीएसपी के अनुसार उनका दोस्त सौरभ कुमार उनकी सर्विस रिवॉल्वर हाथ में लेकर एक्शन से फोटो क्लिक करवा रहा था। इसी दौरान अचानक गोली चल गई और पास खड़े निखिल को जा लगी। निखिल को जख्मी अवस्था में डीएसपी आशुतोष व सौरभ लेकर सदर अस्पताल कोडरमा पहुंचे परन्तु तब तक निखिल की मौत हो गयी थी। खबर पाकर रात में ही निखिल के परिजन कोडरमा पहुंचे और प्राथमिकी दर्ज करायी।

Find Us on Facebook

Trending News