CRIME NEWS: ऐसे रूकेगा कोरोना ? जांच के लिए गयी टीम पर ही कर दी पत्थरबाजी, जांच जारी

CRIME NEWS: ऐसे रूकेगा कोरोना ? जांच के लिए गयी टीम पर ही कर दी पत्थरबाजी, जांच जारी

सुपौल: वैश्विक महामारी कोरोना की जांच करने के लिए अपनी जान जोखिम में डालकर होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित मरीज की जांच करने पहुंची मेडिकल टीम के साथ संक्रमित मरीज औऱ उनके परिजनों ने मारपीट, गालीगलौच औऱ पत्थरबाजी की। मामला जिले के बसंतपुर प्रखंड के वार्ड नम्बर दो हृदयनगर का है, जहां बसंतपुर पीएचसी की मेडिकल टीम में शामिल एएनएम आरती कुमारी, अनुराधा कुमारी औऱ बबीता कुमारी अपनी पूरी टीम के साथ होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज की जांच करने पहुंची थी। 

इस दौरान मेडिकल टीम द्वारा संक्रमित मरीज की पल्स ऑक्सीमिटर, थर्मलस्केनर से जांच की गई। मरीज औऱ उनके परिजनों ने मास्क, सेनेटाइजर व दवाई की मांग की और कहने लगे कि आपलोग सिर्फ़ जांच के नाम पर खानापूर्ति करने आते हैं औऱ चले जाते हैं जबकि सरकार द्वारा एक संक्रमित मरीज के नाम पर डेढ़ लाख रुपये आता है। जो आपलोग सब मिलकर खा जाते हैं। मरीज के परिजन बोलते बोलते इस दौरान अपना आपा खो बैठे औऱ मौके पर मौजूद एएनएम आरती कुमारी, अनुराधा कुमारी औऱ बबीता कुमारी के साथ गाली गलौज व मारपीट करने लगे। इस दौरान संक्रमित मरीज औऱ उनके परिजनों ने मेडिकल टीम की गाड़ी पर भी पत्थरबाजी भी की। 

घटना में पीड़ित एएनएम आरती कुमारी, अनुराधा कुमारी औऱ बबीता कुमारी ने यह भी बताया कि किसी तरह इस घटना की सूचना अधिकारियों को दी गयी, जिसके बाद बसंतपुर बीडीओ और पुलिस टीम के वहां पहुंचने पर हमलोगों को बचाया गया। एएनएम ने कहा कि हमलोगों ने बसंतपुर चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अर्जुन चौधरी औऱ बीडीओ देवानंद कुमार सिंह से सुरक्षा औऱ दोषियों पर कार्यवाई की मांग की है। जबतक हमलोगों की मांगों पर विचार नहीं किया जाएगा, तब तक हमलोग अपने कार्यों का बहिष्कार करेंगे। 

मामले को लेकर जब केरोना संक्रमित मरीज समोल गुप्ता एवं उसके भाई संतोष गुप्ता का कहना था कि बारिश हो रही थी और वे लोग हमें सड़क पर बुला रहे थे। मैं 12 तारीख से करोना से पीड़ित हूं। ये लोग आकर खाली जांच कर चले जाते है न तो कोई दवा, न ही मास्क और सेनिटाइजर देते हैं। इसी बात को लेकर कहासुनी हुई। पत्थरबाजी की बात गलत है। वहीं इस बाबत बसंतपुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अर्जुन चौधरी ने बताया कि विषम परिस्थितियों में हमारी मेडिकल टीम काम करती है। इस तरह की घटना से उनका मनोबल कमजोर होता है। बीडीओ देवानन्द कुमार सिंह ने बताया कि हर कोरोना वॉरियर को पूर्ण सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। घटना से सम्बंधित मामले की जांच की जा रही है आवश्यकता होने पर दोषी के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News