बिहार में साइबर क्राइम पर लगेगा लगाम, बैंक और टेलीकॉम अधिकारियों के साथ पुलिस बनाएगी रणनीति

बिहार में साइबर क्राइम पर लगेगा लगाम, बैंक और टेलीकॉम अधिकारियों के साथ पुलिस बनाएगी रणनीति

पटना. एडीजी मुख्यालय जे एस गंगवार ने आज पुलिस की उपलब्धियों और कार्रवाई को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने बिहार में नक्सलियों पर कार्रवाई, साइबर क्राइम और बेतिया गोलीबारी पर विशेष रूप से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सितंबर महीने में एक लाख और पचास हजार के तीन नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि साइबर अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस बैंक और टेलीकॉम अधिकारी के रणनीति बनाएगी।

बिहार एसटीएफ का बड़ा योगदान अपराध नियंत्रण पर है। वर्ष 2019 में बिहार पुलिस में विशेष कार्यबल के गठन के बाद कई उपलब्धियां मिली हैं। इसकी जानकार देते हुए एडीजी मुख्यालय जे एस गंगवार ने बताया कि हाल के सितंबर माह में एसटीएफ की टीम ने कुल 31 संगीन मामलों के साथ सात इनामी नक्सली को गिरफ्तार किया है, जिसमें तीन नक्सली गिरफ्तार किये गये हैं। इसमें एक लाख का इनामी नक्सली गोपाल दास, पचास हजार का मारुती नंदन और पचास हजार का इनामी अपराधी राम लोचन को एसटीएफ की टीम ने सितंबर माह में गिरफ्तार किया है। इस दौरान एसटीए की विशेष टीम ने कई हथियार, कारतूस और आधादर्जन पुलिस से छीने हथियार को भी बरामद किया है।

वहीं बिहार में बढ़ रहे साइबर क्राइम के मामलों पर एडीजी मुख्यालय जेएस गंगवार ने बताया कि साइबर अपराधी बैंकों और टेलीकॉम कंपनियों को गलत दस्तावेजों की छाया प्रतिलिपि देकर फर्जी सिम और अकाउंट खुलवा लेते हैं। उन्होंने कहा कि कहीं-कहीं ऐसे भी मामला सामने आया है, जहां पैसे का लोभ देकर बैंकों में अपराधी खाता खुलवा लेते हैं। बैंकों में कागजातों के सत्यापन में लापरवाही और टेलीकॉम कर्मियों की लापरवाही पुलिस द्वारा किये जा रहे अनुसन्धान में आने पर उनपर भी करवाई होगी। एडीजी ने कहा कि ये दो अलग-अलग विभागों की बात है। इस पर बैंक अधिकारी और टेलीकॉम अधिकारियों के साथ एक संयुक्त रणनीति बनाई जाएगी, जिससे साइबर क्राइम के मामले का अनुसन्धान में मदद मिलने की उम्मीद है। हालांकि इस मौके पर एडीजी ने मीडिया के माध्यम से लोगों से अपील की है कि केवाईसी नॉम्स का पालन कर साइबर अपराध से बचें।

वहीं बिहार के बेतिया जिले में हुई गोलीबारी मामले की जानकारी देते हुए एडीजी मुख्यालय जेएस गंगवार ने बताया कि बेतिया पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले 22 वर्षीय युवक रंजीत पटेल को ग्रामीणों की सहयोग से गिरफ्तार कर लिया गया है। एडीजी ने बताया कि बेतिया जिले के योगापट्टी थाना क्षेत्र के ग्राम डुमरी के एक अपराधी द्वारा घर में घुसकर गोली मारी गई है। इसके बाद गोलियों की आवाज सुन ग्रामीणों को आता देखकर अपराधी ने ग्रामीणों पर दोनों हाथों से हथियार से फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें दो ग्रामीणों को गोली लगी। दहसत के बाद अपराधी खेत में जा छुपा था। ग्रामीणों की सहयोग से गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ में अपराधी ने घटना के पीछे पुरानी रंजिश बताया है। बेतिया गोलीबारी मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया है।

Find Us on Facebook

Trending News