SUPAUL NEWS : दहेज़ के लिए ससुरालवालों ने की विवाहिता की हत्या, आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस

SUPAUL NEWS : दहेज़ के लिए ससुरालवालों ने की विवाहिता की हत्या, आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस

SUPAUL : जिले के छातापुर थाना क्षेत्र के कटहारा पंचायत में दहेज लोभी ससुराल वालों द्वारा नवविवाहिता का हत्या कर शव को जला देने का मामला प्रकाश में आया है। मृतका के परिजनों द्वारा थाना में दिए गए आवेदन में बताया गया है कि बुधवार को ससुराल वालों ने मेरी लड़की को पहले तो राॅड व लाठी से पीटकर बेहोश कर दिया। फिर करंट सटाकर उसे सदा के लिए मौत की नींद से सुला दिया। जिसके बाद ससुराल वालों ने हत्या करने के बाद साक्ष्य को मिटाने के लिए उसके लाश को जला दिया। जानकारी के बाद मृतका के मायके वाले आनन फानन में कटहरा पहुंचे और स्थिति से अवगत होने के बाद घटना की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहूंची तबतक शव को जला दिया गया था। जहां से पुलिस के द्वारा अवशेष को बरामद किया गया है। 

पुलिस के पहुंचने के बाद से सभी आरोपी फरार बताये जा रहे हैं। इधर मृतका 20 वर्षीया सुषमा देवी की मां संजु देवी पति रंजीत राय साकिन बैरख थाना रानीगंज जिला अररिया के आवेदन पर कांड संख्या 246/21 दर्ज किया गया है। जिसमें मृतका के पति छातापुर थाना क्षेत्र के कटहरा निवासी सुभाष मंडल, ससुर छोटेलाल मंडल सहित ज्योतिष मंडल, भवेश मंडल, ललिता देवी व दामाद देवेंद्र कुमार मंडल को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। मृतिका की मां ने बताया कि शादी के बाद बुलेट बाइक, सोने की चैन और सोने की अंगूठी की मांग को लेकर हमेशा हमारी पुत्री के साथ प्रताड़ित और मारपीट किया जा रहा था । फिर भी मैं ने अपने दामाद से वादा किया था कि अपने लड़के का शादी होने के बाद यथासंभव सामान आपको देंगे । लेकिन उन्होंने मेरे बेटी को प्रताड़ित करते करते अंततः मार ही दिया। मालूम हो कि दो माह पूर्व बीते दो मई 2021 को सुषमा की शादी हिंदू रीती रिवाज के साथ हुई थी, अभी विवाहिता के हाथ की मेंहदी भी नहीं सुखी थी और वह दहेज़ की बली बेदी चढ़ गई।  प्राथमिकी में बताया गया है कि शादी के बाद से ही सुषमा के साथ दहेज़ की मांग को लेकर प्रताड़ित किया जाने लगा, सुषमा के पति सुभाष मंडल सहित ससुराल वाले मायके से दो लाख रुपये मांग कर लाने का दबाब बनाने लगे। सुषमा ने ससुराल वाले को समझाने का प्रयास किया कि उनके पिता मेहनत मजदूरी कर जीवन यापन करते हैं और इतना रूपया वे कहाँ से लाकर देंगे।  लेकिन ससुराल वाले नहीं मानें और प्रताडना का दौर चलता रहा।  दो माह के अंदर सुषमा के द्वारा करीब 10 बार फोन कर अपने माता पिता को दहेज़ मांगे जाने की जानकारी दी गई। इस बीच मृतका के मायके वाले कटहरा पहुंचे और अपने दामाद व उसके परिजनों को समझाने का प्रयास भी किया। लेकिन समझाने का कोई असर नहीं हुआ। 

प्राथमिकी के अनुसार मृतका के पास रह रही उसकी भतीजी 10 वर्षीय रूची कुमारी घटना की प्रत्यक्षदर्शी है, जिसने हत्या के जो तरीके बताये हैं।  वह हृदय विदारक है। रूची ने बताया है कि अनबन के बीच बुधवार को किसी बात को लेकर सभी लोगों ने मिलकर पहले लोहे के राॅड से उसे बुरी तरह से पीटा गया। जब वह बेहोश होकर नीचे गिर गई तो एक एक कर सभी लोग वहां से हट गया। तत्पश्चात सुभाष मंडल ने बिजली करंट सटाकर उसकी की हत्या कर दी। घटना को देखने के बाद उसने चिल्लाने की कोशिश की तो उसके पकड़कर मुंह को बंद कर दिया।

सुपौल से संवाददाता पप्पू आलम की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News