तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने कहा- भारत से होगा उनका अगला उत्तराधिकारी

तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने कहा- भारत से होगा उनका अगला उत्तराधिकारी

न्यूज़ 4 नेशन डेस्क : तिब्बती धर्मगुरु 14वें दलाई लामा ने एक बार फिर से अपने उत्तराधिकारी के मामले को छेड़ दिया है. उन्होंने कहा कि एक दलाई लामा भारत से हो सकता है. इसके साथ ही उन्होंने कहा यह संभव है कि मौत के बाद उनका अगला अवतार भारत में हो. 

दलाई लामा पिछले 60 साल से भारत में निर्वासित जीवन बिता रहे हैं. निर्वासन के 60 साल पूरे होने के एक दिन बाद दलाई लामा ने कहा कि उनका  उत्तराधिकारी चीन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि 'भविष्य में, दो दलाई लामा हो सकते हैं, एक यहां मुक्त देश से और एक चीनी द्वारा चुना हुआ. चीन द्वारा चुना गया दलाई लामा का कोई भी सम्मान नहीं करेगा। यह चीन के लिए एक अतिरिक्त समस्या है! यह संभव है, यह हो सकता है.'

बता दें कि दलाई लामा इससे पहले भी उत्तराधिकारी को लेकर अलग- अलग बयान देते रहे हैं. दिसंबर 2018 में उन्होंने कहा था कि उत्तराधिकारी चुनना उनका काम नहीं है. उनकी स्वाभाविक मृत्यु के बाद एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के माध्यम से इसे लेकर फैसला लिया जाना चाहिए। दलाई लामा का जन्म 1935 में हुआ है और उन्हें मात्र दो साल की उम्र में यह उपाधि मिली थी. वे 1959 में चीनी शासन के खिलाफ एक विद्रोह के बाद भारत आ गए थे. इसके बाद से वह बौद्ध धर्म और तिब्बती लोगों के अधिकारों के लिए काम कर रहे हैं. 1950 में तिब्बत को अपने नियंत्रण के बाद चीन ने इस 83 वर्षीय नोबेल शांति पुरस्कार विजेता को एक खतरनाक अलगाववादी बताता है. 


Find Us on Facebook

Trending News