हरदोई के हरपालपुर में दबंगों से परेशान होकर दलित घर छोड़ने को मजबूर, मकानों की बिक्री के चस्पा किये पोस्टर

हरदोई के हरपालपुर में दबंगों से परेशान होकर दलित घर छोड़ने को मजबूर, मकानों की बिक्री के चस्पा किये पोस्टर

हरदोई. जिले के हरपालपुर में दबंगों के उत्पीड़न से त्रस्त होकर अनुसूचित जाति के चार परिवार गांव से पलायन करने को मजबूर हैं. पीड़ितों ने अपने मकानों की बिक्री के लिए पोस्टर चस्पा कर दिए हैं. वहीं कुछ लोगों ने अपने दरवाजों पर रंग से मकान बेचने की बात लिख दी है. इस मामले में पुलिस ने घटना की जानकारी से इनकार कर दिया है और कैमरे के सामने कुछ भी बोलने से अधिकारी बच रहे हैं.

हरपालपुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम चतर्खा निवासी रामविलास, उसके भाई कौशल, परिवार के ही पिंटू और संजू ने अपने मकानों के बाहर गांव के दबंगों से त्रस्त होकर मकान बेचने का पोस्टर लगा दिया. राम विलास की पत्नी राजेश्वरी के मुताबिक 14 अक्तूबर को गांव के ही कुछ दबंग लोगों ने उसे, उसके पति राम विलास और ससुर राम भजन को गालीगलौज कर जानमाल की धमकी देते हुए लाठी-डंडे व सरिया से मारपीट कर घायल कर दिया.

आरोप है कि पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है, जिससे मारपीट करने वालों के हौसले बुलंद हैं. अब दबंग लोग चारों परिवार के लोगों को जानमाल की धमकी दे रहे हैं. पुलिस से मदद नहीं मिलने के कारण चारों ने अपने मकान बेचकर पलायन करने का फैसला किया है. मामले में प्रभारी निरीक्षक राघवन कुमार सिंह ने घटना की जानकारी होने से ही इनकार कर दिया.

वहीं मीडिया द्वारा पूछे जाने पर उत्तर प्रदेश के अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष राम बाबू हरित ने कहा कि हम देख लेंगे कहा क्या मामला है और उन्होंने कहा कि सीओ को भी पूरे मामले में जांच के बाद कारर्रवाई के आदेश दिये गये हैं.

Find Us on Facebook

Trending News