नुकसान देख डैमेज कंट्रोल की कोशिश ! ललन सिंह से मुलाकात के बाद मंत्री लेशी सिंह बोली- बीमा भारती से अब कोई दुश्मनी नहीं, मानहानि का नोटिस ले सकती हैं वापस

नुकसान देख डैमेज कंट्रोल की कोशिश ! ललन सिंह से मुलाकात के बाद मंत्री लेशी सिंह बोली- बीमा भारती से अब कोई दुश्मनी नहीं, मानहानि का नोटिस ले सकती हैं वापस

PATNA : बिहार की सत्ता पर 17 साल से सत्ता की कुरसी पर बैठे जदयू में सबकुछ सही नहीं है, पहले उनके प्रवक्ता निखिल मंडल प्रवक्ता पद की जिम्मेदारी छोड़ देते हैं। उसके कुछ देर बाद जदयू विधायक बीमा भारती को लेकर मंत्री लेशी सिंह का बडा बयान सामने आते है। जिसमें 24 घंटे के बाद अपने उस नोटिस को वापस लेने की अघोषित तौर बात करते नजर आती हैं, जिसमें  उन्होंने बीमा भारती के खिलाफ पांच करोड़ की मानहानि का दावा किए था। माना जा रहा है जिस तरह की असंतोष की स्थिति जदयू के अंदरखाने में मची हुई है। उसके बाद पार्टी नेतृत्व की तरफ से इस डैमेज कंट्रोल के रूप में की गई कार्रवाई है।

ललन सिंह के साथ बैठक में केस वापस  लेने को कहा 

जानकारी के अनुसार जदयू प्रदेश कार्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, मंत्री विजय चौधरी और लेशी की बैठक हुई।  इसके बाद मंत्री लेशी सिंह ने अपना बयान दिया है। लेशी सिंह ने कहा कि बीमा भारती से मेरी कोई दुश्मनी नहीं है। उनका क्षेत्र अलग है, हमारा अलग क्षेत्र है  जहां तक मेरे ऊपर आरोप लगाने की बात थी तो इस संबंध में हमारे नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह स्पष्ट कर चुके हैं । ऐसे में उन आरोपों पर हमें कुछ नहीं कहना है। उन्होंने 5 करोड़ की मानहानि का नोटिस वापस लेने के संकेत दिए ।

गौरतलब है कि महागठबंधन की सरकार बनने के साथ ही बीमा भारती ने मंत्री लेशी सिंह पर हत्या के मामले में आरोपी होने की बात कहते हुए नीतीश कुमार से यह मांग की थी कि वह लेशी सिंह का इस्तीफा लें, लेकिन नीतीश कुमार ने इसके विपरीत बीमा भारती को ही चेतावनी दे दी थी। इस घटना के एक माह बाद कल लेशी सिंह ने खुद पर लगे आरोपों के बाद जदयू की विधायक बीमा भारती के खिलाफ पांच करोड़ की मानहानि का नोटिश भेज दिया था। पार्टी की दो महिला विधायकों के बीच हो रहे टकराव के कारण जदयू की काफी छिछालेदार हो रही थी और नीतीश सरकार पर अपनी मंत्री को बचाने के आरोप लगने लगे थे। 


Find Us on Facebook

Trending News