मोतिहारी में जुबैदा खातून का खतरनाक खेल, पहले जबरन जमीन कब्जाया, फिर जमीन खाली करने के लिए मांगा 5 लाख और अब पुलिस पर किया जानलेवा हमला

मोतिहारी में जुबैदा खातून का खतरनाक खेल, पहले जबरन जमीन कब्जाया, फिर जमीन खाली करने के लिए मांगा 5 लाख और अब पुलिस पर किया जानलेवा हमला

मोतिहारी. पति और ससुर द्वारा बेची गई जमीन पर अवैध कब्जा जमाए जुबैदा खातुन और उसके समर्थकों ने कल्याणपुर थाने की पुलिस पर जानलेवा हमला कर दिया. तलाकशुदा जुबैदा पर जमीन खरीदने वाले रामबाबू दास ने भी आरोप लगाया है कि महिला जबरन जमीन पर कब्जा जमाए है. महिला ने जमीन खाली करने के एवज में रामबाबू दास से पांच लाख रुपए की मांग की. वहीं महिला के समर्थक इसके पहले रामबाबू दास से भी बदसलूकी और हमला कर चुके हैं. वहीं इसी मामले में पुलिस पर हुए ताजा हमले को लेकर  कल्याणपुर थाने के सहायक पुलिस निरीक्षक समीम अहमद की ओर से शिकायत कराई गई है. 

समीम ने शिकायत में कहा है कि 12 जून को वे पुलिस दल के साथ शाम करीब 7 बजे बहुआरा हरिवंश गांव पहुंचे. उन्होंने आवेदिका जुबैदा खातुन से जमीन के विवाद में पूछताछ की. बाद में दूसरे पक्ष रामबाबू दास से पूछताछ की तो पता चला कि रामबाबू ने वर्ष 2017 में ही जुबैदा के पति मोजरे आलम से जमीन और मकान खरीदा था. उन्होंने पुलिस को जमीन खरीदगी का दस्तावेज़ भी दिखाया. वहीं जुबैदा जबर्दस्ती मकान में रह रही है और घर खाली करने के लिए 5 लाख रुपए मांग रही है. 

समीम के अनुसार रामबाबू से छानबीन करने के बाद जब वे वापस जुबैदा के यहां पहुंचे तो उसके घर के बाहर मुस्लिम समुदाय के लोगों की भारी भीड़ जमा थी. समीम ने आवेदिका जुबैदा को समझाने की कोशिश की तो वहां मौजूद भीड़ ने समीम पर पक्षपात करने आरोप लगाया. मुस्लिम भीड़ की ओर से कहा गया कि समीम अहमद हिंदू पक्ष के व्यक्ति की तरफदारी कर रहे हैं. इसी दौरान वहां मौजूद भीड़ ने समीम सहित अन्य पुलिस वालों पर लाठी, डंडा, ईंट, पत्थर, तलवार से जानलेवा हमला कर दिया. तलवार से पुलिस की गाड़ी चला रहे चालक जय कुमार उपाध्याय के सिर में चोट लगी जिससे वह लहूलुहान हो गया. वहीं समीम सहित अन्य 4 पुलिस वालों को भी चोट आई. पुलिस वाहन भी बुरी तरह चकनाचूर हो गया. समीम और अन्य पुलिस वाले किसी तरह वहां से जान बचाकर भागने में सफल रहे. 

पुलिस ने इस मामले में जुबैदा खातुन, मोहम्मद जुनैद, अफजल अली, मोहम्मद आरिफ, समना खातुन, बसीर मियां, अमीन, गुलाम मियां, अयूब मियां, आसमा खातुन, आमना खातुन, नसरीन खातुन, हमिदन खातुन, गुडिया खातुन, जुबैदा खातुन, आशा मियां, शोएब अली, आश अली, हलिमन खातुन, असमा खातुन सहित 100 अज्ञात के विरुद्ध मामला दर्ज कराया गया है. 

वहीं रामबाबू ने भी कहा कि उन्होंने वर्ष 2017 में जुबैदा के पति और ससुर से जमीन खरीदी थी. जुबैदा जबरन उस जमीन के एक हिस्से में बने एक मकान में रह रही है. कुछ समय पूर्व जब वे जमीन पर मिटटी भराने का काम कर रहे थे तब भी जुबैदा के दर्जनों समर्थकों ने उनसे झगड़ा किया था. वहीं जुबैदा का पति से तलाक हो चुका है. उसके पति की सम्पत्ति से उसका कोई नाता नहीं है लेकिन वह मकान खाली करने के लिए 5 लाख रुपए की मांग कर रही है. अब जुबैदा की ओर से पुलिस पर हमला किया गया है. वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि पुलिस किसी तरह जान बचाकर भागी है. 


Find Us on Facebook

Trending News