केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मिले दरभंगा सांसद गोपालजी ठाकुर, आरओबी निर्माण की स्वीकृति के लिए जताया आभार

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मिले दरभंगा सांसद गोपालजी ठाकुर, आरओबी निर्माण की स्वीकृति के लिए जताया आभार

DARBHANGA : नई दिल्ली में दरभंगा सांसद डॉ गोपाल जी ठाकुर ने केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से संसद भवन स्थित उनके कार्यालय कक्ष में मुलाकात की। इस दौरान सांसद डॉ ठाकुर ने दरभंगा शहर में 217 करोड़ की लागत से प्रस्तावित पाँच आरओबी, 80 करोड़ की लागत से दोनार गुमटी, 36 करोड़ की लागत से पंडासराय गुमटी, 101 करोड़ की लागत से दिल्ली मोड़ एवं बेला गुमटी पर आरओबी निर्माण को जल्द स्वीकृति प्रदान करने का आग्रह किया। जिस पर मंत्री ने तत्काल स्वीकृति प्रदान कर दी। विदित हो कि इन परियोजना को लेकर सांसद लगातार सक्रिय हैं और इसको लेकर मंत्री से पूर्व में पत्र लिखकर एवं सदन के माध्यम से आग्रह भी कर चुके है। सांसद ने मिथिला को दिए गए ऐतिहासिक सड़क परियोजना एवं दरभंगा शहर को आरओबी के लिए मंत्री का आभार जताया और मिथिला की हृदय- स्थली दरभंगा आने का निमंत्रण दिया। जिसको केंद्रीय मंत्री से स्वीकार करते हुए बरसात के बाद दरभंगा आने की बात कही।


सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि मुलाकात के क्रम में दरभंगा सहित सम्पूर्ण मिथिला क्षेत्र से जुड़े कई महत्वपूर्ण सड़क परियोजना एवं अन्य विकास कार्यों को लेकर चर्चा हुई। उन्होंने कहा की वर्तमान में ट्रैफिक जाम की समस्‍या के कारण आम नागरिकों को आए दिन काफी प‍रेशानियों का सामना करना पड़ता है। दरभंगा में बढ़ते ट्रैफिक दबाव के कारण आरओबी की उपयोगिता काफी बढ़ गई थी। उन्होंने कहा कि दरभंगा में इस पांच आरओबी के बन जाने से यातायात सुगम होगा और लोगों को शहर में जाम की समस्या से निजात मिलेगी। उन्होंने ने कहा कि शेष बचे आरओबी के निर्माण हेतु भी वह प्रयासरत है और जल्द उसके निर्माण को भी अंतिम स्वीकृति मिल जाएगी।

सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार के भारत माला परियोजना के तहत मिथिला में नेशनल हाइवे सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार में 7500 करोड़ की लागत 200 किलोमीटर लंबा बन रहे बिहार के पहले एक्सप्रेस वे सड़क का सौगात भी आमस - दरभंगा के जरिए दरभंगा को दिया गया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा भारत माला धार्मिक संपर्क योजना के तहत उमगांव (उच्चैठ भगवती) से महिषी (तारास्थान) तक बनने वाली सड़क का भी निर्माण हो रहा है और उसी सड़क में देश का  सबसे लम्बे पुल का निर्माण कोशी नदी पर भेजा के पास हो रहा है। इस परियोजना की कुल लागत लगभग तीन हजार करोड़ रूपए है। सांसद ने कहा कि दरभंगा में लोगों को परेशानियों एवं बढ़ते जनसंख्या को देखते हुए यहां रिंग रोड का निर्माण अति आवश्यक हो गया था। पिछले दिनों इसके निर्माण की भी मोदी सरकार से स्वीकृति मिल चुकी है। सांसद डॉ ठाकुर ने कहा वर्तमान लहेरियासराय से रोसड़ा पथ को भी एनएच सड़क में परिवर्तित करने का स्वीकृति मिल चुका है। यह सड़क अब एनएच 527E के नाम से जानी जाएगी और इस सड़क का निर्माण लगभग 500 करोड़ रूपए से होगा। सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि दरभंगा हवाई अड्डा से जयनगर सड़क को भी एनएच फोर लेन सड़क में परिवर्तित करने हेतु स्वीकृति मिल चुका है। उन्होंने ने कहा कि मझौली से चिरौत 400 करोड़ की लागत से 60 किमी लंबे फोर लेन सड़क का निर्माण प्रगति पर है। 

सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ने गोरखपुर सिल्लीगुड़ी 6 लेन सड़क निर्माण को भी स्वीकृति दे दी है। उन्होंने कहा की भारतमाला परियोजना के तहत राज्य में राष्ट्रीय राजमार्ग सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है, जिससे मिथिला सहित बिहार के अधिकांश जिलों में बेहतर कनेक्टिविटी की सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा की बिहार में इस परियोजना की शुरुआती लागत 50- 60 हजार करोड़ रुपए होगा। इसके तहत भारत-नेपाल बॉर्डर सड़क (552 किमी) को फोरलेन में परिवर्तित करने सहित राज्य के कई सड़क शामिल हैं। सांसद ठाकुर ने कहा कि वह दरभंगा सहित मिथिला में एनएच एवं एनएचएआई सड़कों के अधिक से अधिक निर्माण हेतु प्रारंभ से ही प्रयासरत रहे हैं और इसको लेकर कई बार केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी जी से मुलाकात कर विभिन्न विषयों पर विस्तृत चर्चा एवं मांग भी कर चुके हैं और जिसका सार्थक परिणाम भी  प्राप्त हो रहा है।

वरुण ठाकुर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News