मौत का हाइवे : एनएच 30 पर बालू की मोटी परत से होती है दुर्घटना

मौत का हाइवे : एनएच 30 पर बालू की मोटी परत से होती है दुर्घटना

PATNACITY : राजधानी पटना. इसी शहर से राज्य की सरकार चलती है. एक ऐसा शहर जहाँ सरकार का पूरा मंत्रिमंडल बैठता है. प्रशासन के आला अधिकारी इसी शहर में रहते हैं. हर रोज इस शहर से मंत्री, विधायक और अधिकारी बिहार के अलग – अलग कोने में दौरे पर जाते हैं. इस शहर को अब स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद की जा रही है. लेकिन ये सब बातें उस समय बेमानी लगने लगती हैं. जब हम पटना शहर में प्रवेश करते है. 

पटनासिटी के एनएच 30 और स्टेट हाइवे की तस्वीर देखकर आप दंग रह जायेंगे. दीदारगंज में पटना बख्तियारपुर टॉल प्लाजा हो या फिर स्टेट हाइवे यहाँ सड़कें तो है. लेकिन  आपको सडक का कोई अता पता नही चलेगा. सड़क को आपकी आंखें ढूंढती रह जायेगी. इन सडकों पर बालू का मोटा परत चढ़ा है. इस क्षेत्र के लोग प्रदूषण से परेशान है. गर्मी की वजह से सड़क पर धूल ही धूल नजर आता है. जब गाड़िया गुजरती है तो दिन में ही अँधेरा छा जाता है. 

इस बालू के बजह से कई लोगों की मौत हो चुकी है. बालू की मोटी परतों में गाड़ियों के  चक्के फंस हैं, जिसके कारण गाड़ियाँ अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो जाती है. इतना सब होने के बावजूद किसी का इस तरफ ध्यान नहीं गया है. लोगों का मानना है कि सरकार स्मार्ट सिटी बनाने की बात करती है लेकिन यह नर्क सिटी से कम नही है. इस क्षेत्र में कई बड़े निजी विद्यालय के साथ साथ घनी आबादी भी रहती है. बालू उड़ने से कितने लोगों की आंखें ख़राब हो चुकी है. लोग साँस और फेफड़े की बीमारी से ग्रसित हो रहे है. 

लोग तो यहाँ तक कहते है कि दीदारगंज टॉल प्लाजा पर जब हम टैक्स देकर सफर करते है तो नागरिकों को इसकी सुविधा भी मिलनी चाहिए. हाइवे पर हमेशा साफ सफाई होनी चाहिए. इसके बावजूद इस ओर कभी ध्यान नहीं दिया जाता है. दीदारगंज टॉल प्लाजा से होकर नालन्दा औऱ फतुहा की ओर जाने वाले रास्ते पर कई किलोमीटर तक बालू की परत बिछी हुई है. इस मामले को लोगों ने प्रदर्शन भी किया. लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गयी. 

पटनासिटी से रजनीश की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News