मौत की छलांगः गंगा की उफनती लहरों के बीच युवा कर रहे मस्ती, रोकने वाला कोई नहीं, जरा-सी चूक में हो सकता है जान का खतरा

मौत की छलांगः गंगा की उफनती लहरों के बीच युवा कर रहे मस्ती, रोकने वाला कोई नहीं, जरा-सी चूक में हो सकता है जान का खतरा

PATNA: पहले यास तूफान की जोरदार बारिश और उसके तुरंत बाद मॉनसून के आगमन से बिहार में नदियों सहित सभी जलाशयों में पानी अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। हालात ऐसे हो गए हैं कि गंगा सहित सभी सहायक नदियों का पानी हर घंटे बढ़ रहा है। कई नदियां खतरे के निशान को भी पार कर चुकी हैं और उत्तर बिहार में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। इनसब के बीच युवा अपनी ही मस्ती में नजर आ रहे हैं। गंगा की बढ़ते जलस्तर की भी उन्हें कोई चिंता नहीं है और युवा झुंड बनाकर घाट किनारे नहाने और मस्ती करने पहुंच रहे हैं।

यह डूबे नहीं है, बल्कि मस्ती के मूड में है

राजधानी पटना के घाटों की बात करें तो यहां की सीढियों तक गंगा का पानी पहुंच गया है। गंगा का जलस्तर बढ़ना एक तरफ जहां लोगों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है वहीं लोग लगातार घाट किनारे पहुंचकर बढ़े हुए जलस्तर का नजारा कैमरे में कैद करने को बेताब नजर आ रहे हैं। इनमें बड़ी तादाद में युवा होते हैं, जिन्हें ना तो अपनी जान की फ्रिक होती है, ना ही घरवालों का डर। कुछ ऐसा ही नजारा NIT घाट के पास दिखा जहां कुछ युवा घाट किनारे बने गुंबदों पर चढ़कर नदी में छलांग लगाते नजर आए। तो वहीं कुछ लड़के सीढ़ियों की रेलिंग को झूला बनाकर वहां से गंगा में डुबकी लगाते दिखे। उन्हें ऐसा करने में बड़ा मजा आ रहा था और एक-दो बार नहीं, बल्कि लगातार वह इस प्रक्रिया को दोहरा रहे थे। पूछे जाने पर उन्होने कहा कि वह सभी कुशल तैराक हैं। गंगा में बढ़ते पानी को देखकर वह खुद को रोक नहीं सके और पानी में छलांग लगा दी।

मॉनसून की बारिश और नेपाल द्वारा लगातार पानी छोड़े जाने की वजह से गंगा का जलस्तर हर घंटे खतरनाक तरीके से बढ़ रहा है। ऐसे में घाट किनारे प्रशासन द्वारा विशेष व्यवस्था की जानी चाहिए ताकि लोग बेवजह घाट पर भीड़ ना लगाएं और अपनी जान जोखिम में ना डालें। यहां बात केवल प्रशासन की नहीं बल्कि लोगों की भी है, उन्हें खुद भी समझना चाहिए कि ऐसी स्थिति में गंगा किनारे नहीं जाएं और युवाओं और बच्चों को भी ऐसा करने से रोकें।

Find Us on Facebook

Trending News