रेरा को ठेंगा! DNS होम्स कंपनी बिना निबंधन 'बिहटा' में बसा रही टाउनशिप, 'सुविधा इनक्लेव' के जाल में फंसे तो होगी 'असुविधा'

रेरा को ठेंगा!  DNS होम्स कंपनी बिना निबंधन 'बिहटा' में बसा रही टाउनशिप, 'सुविधा इनक्लेव' के जाल में फंसे तो होगी 'असुविधा'

PATNA: बिहार में अब रेरा को खुल्लम खुल्ला ठेंगा दिखाया जा रहा है। कागज पत्तर के नाम कुछ भी नहीं लेकिन 10-20 बीघे में टाउनशिप बसाने का खेल चल रहा। यह सब कुछ सामने है, फिर भी वैसे गैरनिबंधित प्रोजेक्ट पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही। रेरा भी आंख मूंदे बैठा है. तभी तो बोर्ड लगाकर कंपनियों की तरफ से टाउनशिप बसाने के नाम पर जमीन की बिक्री की जा रही। न्यूज4नेशन पटना और आसपास के इलाकों में बिना निबंधन के टाउनशिप बसाने वालों की पोल खोल रहा। अब तक सिर्फ नौबतपुर,शिवाला,बिहटा इलाके के एक दर्जन से अधिक प्रोजेक्ट की पोल खोली गई है। वे तमाम प्रोजेक्ट रेरा से निबंधित नहीं हैं,फिर भी धडल्ले से जमीन का सौदा कर रहे। आज हम आपको बिहटा के सिकरिया इलाके में डीएनएस होम्स के प्रोजेक्ट सुविधा इनक्लेव फेज-2 की पोल खोल रहे हैं. 

सुविधा इनक्लेव की हकीकत 

डीएनएस होम्स पटना जिले के बिहटा के कई किमी दूर सिकरिया में सुविधा इनक्लेव प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया है। बताया जाता है कि कंपनी ने कई बीघे जमीन को टाउनशिप बसाने के नाम पर ग्राहकों में बिक्री कर रही है. जमीन की बिक्री के लिए तरह-तरह के प्रलोभन दिये जा रहे हैं. बजाप्ता बोर्ड लगाकर और पोस्टर के माध्यम से प्रोजेक्ट का प्रचार-प्रसार किया जा रहा। बिचौलिया ग्राहकों को फोन कर उन्हें जाल में फंसाने की कोशिश कर रहे हैं. ग्राहक को लगातार फोन जा रहा। बड़ा सवाल यही है कि क्या वह प्रोजेक्ट रेरा से निबंधित है?  आप इस कंपनी के बारे में रेरा में पता करेंगे तो कोई अता-पता नहीं चलेगा. न कंपनी का पता है और न प्रोजेक्ट का। यानि बिना निबंधन के ही डीएनएस होम्स के द्वारा सुविधा इनक्लेव पर काम किया जा रहा। जबकि रेरा का सख्त आदेश है कि रेरा से निबंधन लिये बिना न तो किसी प्रोजेक्ट का प्रचार-प्रसार करना है और न बिक्री। लेकिन यहां तो कोई कानून ही नहीं है।

GREEN CLAVE का भी निबंधन नहीं 

पटना में टाउनशिप बसाने को लेकर बिल्डर-प्रमोटर एम्स,आईआईटी के नाम पर ग्राहकों को ठगते हैं। नौबतपुर इलाके के प्रोजेक्ट को एम्स के नजदीक बताया जाता है. वहीं अगर टाउनशिप बिहटा इलाके में हो तो उसे आईआईटी बिहटा के नजदीक बताया जाता है। इस तरह से ग्राहकों को ठगा जाता है। एक ऐसा ही प्रोजेक्ट है ग्रीन क्लेव कंस्ट्रक्शन कंपनी। इस कंपनी का प्रोजेक्ट  एम्स- नौबतपुर सोन नहर रोड पर है। बिना रेरा से निबंधन के ही प्रोजेक्ट की बिक्री का काम शुरू कर दिया गया है। कंपनी ने बजाप्ता बिक्री के लिए बोर्ड भी लगाये हैं. साथ ही दो नबंर जारी किया गया है। प्लॉट बेचने वाली कंपनी के लिए ग्राहकों को अपने फोन नंबर सार्वजनिक किये हैं। आप समझ सकते हैं कि अब प्लॉट बिक्री करने वालों में रेरा का कोई डर नहीं रहा। ऐसे लोग खुल्लम-खुल्ला काम कर रहे। बताया जाता है कि मिलीभगत से इस तरह का धंधा खूब फल फूल रहा। ग्राहक झांसे में आकर ऐसे लोगों के चक्कर में फंस जाते हैं। अगर आप रेरा में इस तरह के प्रोजेक्ट और कंपनी को खोजते रह जायेंगे,आपको नहीं मिलेगा.

GOLDEN HERITAGE  नाम से सावधान

अब हम आपको बिहटा इलाके के इस प्रोजेक्ट के बारे में बचा रहे हैं। बिहटा के देवकुली इलाके में PATHOS REALWAYS नाम की कंपनी टाउनशिप बसा रही है। टाउनशिप का नाम बहुत ही सुंदर दिया गया है। टाउनशिप बसाने वाली कंपनी GOLDEN HERITAGE नाम से 2092.68 स्कॉयर मी. के प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। लेकिन रेरा ने इस प्रोजेक्ट के लिए निबंधन नहीं दिया है। यानी अब तक यह प्रोजेक्ट गैर निबंधित है। इस प्रोजेक्ट के शुरूआत करने का समय 1 फऱवरी 2020 था जबकि पूरा होने का समय 31 जनवरी 2025 है। लेकिन प्रोजेक्ट का मैप व अन्य वजहों से रेरा ने निबंधन देने से मना कर दिया। 

Find Us on Facebook

Trending News