दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रो.अरविंद पटेल नीतीश के गढ़ में देंगे चुनौती, नालंदा से होंगे हम के उम्मीदवार !

दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रो.अरविंद पटेल नीतीश के गढ़ में देंगे चुनौती, नालंदा से होंगे हम के उम्मीदवार !

PATNA : दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रोफेसर अरविंद पटेल सीएम नीतीश के गढ़ नालंदा में जेडीयू को चुनौती देंगे। दिल्ली विश्वविद्यालय के रामलाल कॉलेज में इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर अरविंद पटेल का नालंदा से हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा उम्मीदवार के रुप में चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है। सूत्रों की माने तो हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने पटेल को नालंदा से लोकसभा चुनाव की तैयारी करने को कहा है।

प्रो.अरविंद पटेल की शिक्षा पटना विश्वविद्यालय से हुई है। पटना विश्वविद्यालय से ये लंबे समय तक जुड़े रहे हैं। यहां तक की पटना विश्वविद्यालय की सेंट्रल लाइब्रेरी को 24 घंटे खुलवाने का श्रेय भी एक छात्र नेता के रुप में इन्हें ही जाता है। अरविंद पटेल पटना के पटेल छात्रावास से भी जुड़े रहे हैं। इन्होंने पटना विश्वविद्यालय से सांप्रदायिक सद्भाव में लालू प्रसाद की भूमिका विषय पर पीएचईडी की डिग्री ली है।

मेरी लड़ाई राज्य के वर्तमान  व्यवस्था से 

प्रो. अरविंद पटेल ने कहा कि उनकी लड़ाई बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में बिहार की बिगड़ती स्थिति को बचाने के लिए वे मैदान में आए हैं। पूरब का ऑक्सफोर्ड कहलाने वाला पटना विश्वविद्यालय आज बदहाल है। शिक्षकों की कमी के कारण पटना विश्वविद्यालय सहित बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में पढ़ाई की स्थिति बेहद खराब है जिसका सीधा असर बिहार के भविष्य पर पड़ रहा है। लगातार गिरती विधि व्यवस्था एक बार फिर से बिहार के चरित्र को राष्ट्रीय पटल पर धूमिल कर रही है। उन्होंने कहा कि  भ्रष्टाचार भी सुशासन में व्यवहार बन गया है। अत: आज जरुरत है कि केंद्र और राज्य में काबिज पाखंडी सरकार को उखाड़ फेंका जाए।

प्रो. अरविंद पटेल ने सुभद्रा कुमारी चौहान की कविता सुनाते हुए कहा-

गलबाँहें हों या हो कृपाण
 चलचितवन हो या धनुषबाण
 हो रसविलास या दलितत्राण
 अब यही समस्या है दुरंत-
 वीरों का कैसा हो वसंत

Find Us on Facebook

Trending News