ईडब्ल्यूएस आरक्षण के विरोध में जनतांत्रिक विकास पार्टी का धरना, अनिल कुमार ने ईडब्ल्यूएस आरक्षण को बताया संविधान विरोधी

ईडब्ल्यूएस आरक्षण के विरोध में जनतांत्रिक विकास पार्टी का धरना, अनिल कुमार ने ईडब्ल्यूएस आरक्षण को बताया संविधान विरोधी

पटना. आरक्षण बाबा साहब के सपनों का हिस्सा है। भारत सरकार ने ईडब्ल्यूएस आरक्षण (आर्थिक आधार पर) देकर ना केवल संविधान के अनुच्छेदों के साथ छेड़छाड़ किया है, बल्कि बाबा साहब के सपनों का निरादर भी किया है। यह बातें आज बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर ईडब्ल्यूएस आरक्षण के विरोध में जनतांत्रिक विकास पार्टी द्वारा आयोजित एक दिवसीय धरना को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल कुमार ने कही है।

उन्होंने कहा कि ईडब्ल्यूएस आरक्षण (आर्थिक आधार पर 10%) भारतीय संविधान के अनुच्छेद का खुल्लम खुल्ला उल्लंघन है। यह न केवल बहुसंख्यकों के हित के खिलाफ है, बल्कि आर्थिक आधार पर आरक्षण देकर बहुसंख्यक के मुंह से निवाला छीनने के समान है। उन्होंने कहा कि अगली जातियों को आरक्षण देकर बहुसंख्यकों को आईना दिखाया है। अब समय आ गया है कि बहुसंख्यक आबादी अपने हक की लड़ाई के लिए एकजुट हो और सामाजिक एकता के साथ चट्टानी एकता का परिचय देते हुए जनतांत्रिक विकास पार्टी के सिद्धांतों को अपनाएं और बाबा साहब के सपनों को साकार करें। जहां पहले से ही बहुत नौकरियों में शोषित, दलित, अतिपिछड़ों व पिछड़ों को आरक्षण नही दिया जाता है। अब तो जिनकी संख्या 90 प्रतिशत है, उन्हें नौकरियां नहीं मिलेगी।

उन्होंने कहा कि सरकार ने ईडब्ल्यूएस आरक्षण को बिहार में लागू कर अपनी दोनों ही नीति का परिचय दिया है। हमें सतर्क रहना चाहिए इन दोगली नीतियों वाले सरकारों से। उन्होंने कहा कि न तो कोई आयोग बनाया गया और न ही कोई कमिटि बनाई गई। केवल सरकार अपने वोट बैंक के फायदे के लिए 10 प्रतिशत आररक्षण दे दिया।

वहीं एकदिवसीय धरना को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. रंजन कुमार ने कहा कि जनतांत्रिक विकास पार्टी आम जनों की पार्टी है और आम सरोकार के मुद्दों को लेकर संघर्ष करती रही है। ईडब्ल्यूएस आरक्षण लागू करना केवल बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के विचारों को की तिलांजलि दी है, बल्कि बहुत संख्या गांव के हित को भी नकारा है। बिहार सरकार आरक्षण लागू कर बहुत जनों का वोट तो लेती है, लेकिन इनके अधिकारों का हनन करती है।

धरना को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष संजय मंडल ने कहा कि भारतीय समाज समरसता की बात करती है, लेकिन भारतीय संविधान की अनदेखी कर ईडब्ल्यूएस आरक्षण को लागू करना भारत के अधिकांश आबादी के अधिकारों का हनन है। जनतांत्रिक विकास पार्टी इन अधिकारों को प्राप्त करने के लिए कृत संकल्पित है और ईडब्ल्यूएस आरक्षण समाप्त करने तक हमारी लड़ाई जारी रहेगी। प्रदेश प्रधान महासचिव अमर आजाद, सुखदेव यादव, भैया राम भारती, राजकमल पटेल, प्रेमप्रकाश पटेल, रजनीश पासवान, अशोक मांझी सहित अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया।

Find Us on Facebook

Trending News