कुर्सी से जबरन उतारे जाने से दुखी कर्नाटक के उप सभापति ने की आत्महत्या, रेल पटरी पर मिला शव

कुर्सी से जबरन उतारे जाने से दुखी कर्नाटक के उप सभापति ने की आत्महत्या, रेल पटरी पर मिला शव

डेस्क। कुछ दिन पहले कर्नाटक विधानपरिषद में एक शर्मनाक घटना हुई थी, जिसमें उप सभापति एसएल धर्मेगौड़ा को कांग्रेस के विधायकों ने जबरन खिंचकर कुर्सी से उतार दिया था। इस घटना से देश में लोकतंत्र को गहरा झटका लगा था। अब इस शर्मसार करनेवाली घटना ने एक बड़े राजनीतिक की जान ले ली है। इस घटना से आहत उप सभापति एसएल धर्मेगौड़ा ने  आत्महत्या कर ली है। धर्मेगौड़ा का शव चिकमगलुरु में कडूर तालुक स्थित एक रेलवे ट्रैक पर मिला। बताया जा रहा है कि उन्होंने ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी। कर्नाटक डेप्युटी स्पीकर और जेडीएस नेता एसएल धर्मेगौड़ा की आत्महत्या से उनके करीबी और प्रशंसक स्तब्ध है। 

 धर्मेगौड़ा की आत्महत्या करने को लेकर कर्नाटक की राजनीति में भूचाल आ गया है।  पुलिस ने धर्मेगौड़ा के पास से एक सुइसाइड नोट भी बरामद किया है जिसमें उन्होंने हाल ही में कर्नाटक विधान परिषद के अंदर हुई घटना का जिक्र किया है।  बताया जा रहा है कि धर्मेगौड़ा सखरायपटना स्थित फार्महाउस से सोमवार शाम अपने ड्राइवर धर्मराज के साथ निकले थे। ड्राइवर के अनुसार, धर्मेगौड़ा किसी दोस्त से फोन पर बात कर रहे थे। शाम करीब सवा 6 बजे वे गुनसागर स्थित रेलवे ट्रैक के नजदीक वाली रोड पर पहुंचे। धर्मेगौड़ा ने अपने ड्राइवर को कार रोकने और उनके आने तक इंतजार करने को कहा। हालांकि वह कई घंटे बाद भी लौटकर नहीं आए। उनका मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ हो चुका था। जिसके बाद उनकी तलाश में ड्राइवर ने नजदीकी और पुलिस को घटना की जानकारी दी। बाद में उनका शव रेल पटरी पर बरामद किया गया। 

कुर्सी से उतारे जाने से थे आहत

15 दिसंबर को कर्नाटक विधान परिषद में बहस के दौरान उप सभापति को कांग्रेस विधायकों ने जबरन खींचकर कुर्सी से उतार दिया था, बताया जाता है कि इस घटना से धर्मेगौड़ा को गहरा सदमा पहुंचा था। उन्होंने अपने करीबियों से इस बारे में बताया था। घटनास्थल पर पहुंचे बीजेपी के महासचिव सीटी रवि ने बताया, 'धर्मे गौड़ा ने एक नोट छोड़ा है जिसमें उन्होंने प्रॉपर्टी के बारे में जानकारी दी है। इसके अलावा उन्होंने 15 दिसंबर की घटना पर भी खेद जताया है।' चिकमगलुरु से विधायक सीटी रवि ने मीडिया को बताया कि धर्मेगौड़ा ने नोट में अपनी प्रॉपर्टी का जिक्र करते हुए बताया है कि किसे क्या मिलेगा। सुसाइड नोट में लिखी बातों से यह अनुमान लगाया जा सकता है कि उन्होंने आत्महत्या करने का फैसला पहले ही ले लिया था और इससे पहले उन्होंने जरुरी कार्य पूरे कर लिए थे



Find Us on Facebook

Trending News