पंचायत चुनाव में डिप्टी सीएम के भाई की भद्द पिट गयी, मुखिया का चुनाव लड़े, मिले मात्र 45 वोट

पंचायत चुनाव में डिप्टी सीएम के भाई की भद्द पिट गयी, मुखिया का चुनाव लड़े, मिले मात्र 45 वोट

पटना. बिहार में पंचायती राज का चुनाव चल रहा है. इसमें कई दिग्गज नेताओं के रिश्तेदार भी चुनाव लड़े हैं, जिसमें कई को हार का सामना करना पड़ा है. ताजा मामला बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद के चचेरे भाई का है. सहरसा जिले की सलखुआ पंचायत से तारकेश्वर प्रसाद के चचेरे भाई राकेश कुमार भगत ने मुखिया का चुनाव लड़ा. इसमें उन्हें मात्र 45 वोट मिला है, जो चर्चा का विषय बना गया है.

सहरसा जिले की सलखुआ पंचायत से उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद के चचेरे भाई राकेश कुमार भगत को मुखिया चुनाव में सिर्फ 45 वोट मिले. अररिया की तारण पंचायत से पूर्व मंत्री सरफराज आलम के साले को करारी हार मिली है। RJD की प्रदेश प्रवक्ता रितु जायसवाल के पति सिंहवासिनी पंचायत से मुखिया का चुनाव जीत गए। वहीं, औरंगाबाद के कुटुंबा प्रखंड से किरण सिंह ने जिला परिषद क्षेत्र संख्या 24 से 16159 वोट से जीतकर रिकॉर्ड बना दिया.

अब धीरे-धीरे अपने आखिरी चरण में पहुंच रहा है. पंचायत चुनाव के 10वें चरण की मतगणना शुक्रवार सुबह 8 बजे से चल रही है. यह आज भी जारी रहेगी. 93725 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला दो दिनों में होना है. 817 पंचायतों में बुधवार को मतदान हुआ था. मतदान के लिए 7,257 मतदान केंद्र बनाए गए थे, जिनमें से 509 नक्सल प्रभावित थे.

Find Us on Facebook

Trending News