देशी वैक्सीन कोविसील्ड और कोवैक्सिन भारतीय वैज्ञानिकों की एक बड़ी कामयाबी है

देशी वैक्सीन कोविसील्ड और कोवैक्सिन भारतीय वैज्ञानिकों की एक बड़ी कामयाबी है

PATNA : भारत बायोटेक द्वारा निर्मित देशी वैक्सीन कोविसील्ड और कोवैक्सिन भारतीय वैज्ञानिकों की एक बड़ी कामयाबी है जिसे टीकाकरण के भारत 3rd फेज दिए जा रहे है दरअसल वैक्सीन को लेकर काफी अफवाहों का बाजार गर्म हुआ है.

जिसको लेकर देश के लोगो में असामंजस्य की स्थिति उत्पन्न हो गई है वही अगर हम बात करें वैक्सिनेशन की तो भारत में वैक्सीनेशन तीसरे चरण में नेता से अभिनेताओं तक ने वैक्सीन की पहली डोज़ ली है बहरहाल देशी वैक्सीन पर लोगो की चिंताओं को दूर करते हुए बिहार के जाने माने फिजिसियन डॉ दिवाकर तेजस्वी ने बताया कि अभी कोरोना संक्रमन देश और राज्य से खत्म नही हुआ है लोगो को आगे आकर वैक्सीनेशन करवाना चाहिए ,ताकि इस संक्रमण के चेन ऑफ़ ट्रांसमिशन को रोका जा सके 

बताते चले आपको की डॉ दिवाकर तेजस्वी ने भी देशी वैक्सीन की पहली डोज ली है और दूसरी पारी का इंतजार कर रहे है डॉ दिवाकर तेजस्वी ने कहा कि पहली डोज़ और दूसरी डोज लेने के तकरीबन 3 हफ्ते बाद मानव शरीर में एन्टी बॉडी बनने शुरू हो जाते है शरीर इम्यून होना शुरू हो.जाता है ऐसे में सरकार द्वारा लागू कोविड 19 के सभी नियमों का वैक्सिनेशन के बाद भी लोगो को ख्याल रखना है ताकि इस संक्रमण से बिहार सहित पूरे विश्व को इससे निजात मिल सके.



Find Us on Facebook

Trending News