चिलचिलाती धूप के बावजूद लोगों से मिल रहे हैं पाटलिपुत्र के निर्दलीय प्रत्याशी आर के शर्मा

चिलचिलाती धूप के बावजूद लोगों से मिल रहे हैं पाटलिपुत्र के निर्दलीय प्रत्याशी आर के शर्मा

PATNA: उन्हें चिलचिलाती गर्मी की कोई परवाह नहीं है. धूल के थपेड़ों की भी उन्हें कोई परवाह नहीं होती है. वे लोगों से मिलने जुलने के लिए आजकल तूफानी दौरा कर रहे है. ये है पाटलिपुत्र से निर्दलीय प्रत्याशी आर के शर्मा जो पेशे से बिजनेसमैन हैं. नौबतपुर इलाके के नयापुर गाँव के रहनेवाले हैं. मुंबई में रहकर अपनी कंपनी चलाते हैं, जिससे करोड़ों का कारोबार होता है. 2015 में इन्होंने विक्रम विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा था. लेकिन इस चुनाव में इनको पराजय का मुंह देखना पड़ा था. 2019 के लोकसभा चुनाव में वे फिर किस्मत आजमा रहे है. सवर्णों के 25 संगठनों ने इस चुनाव में उनका समर्थन किया है, जिससे इस बार वे अपनी जीत पक्की मान रहे हैं. मन में लोगों की सेवा का भावना लेकर वे पालीगंज, विक्रम, फुलवारीशरीफ और मसौढ़ी इलाके में घूम रहे रहे हैं. लोगों का हुजूम उनके पीछे होता है. अपने घोषणा पत्र में उन्होंने क्षेत्र के विकास, शिक्षा और रोजगार को मुद्दा बनाया है. अपनी खुद की कंपनी में उन्होंने सौ से अधिक युवाओं को रोजगार देने का वादा किया है. वे जहाँ भी जाते हैं लोगों से पानी के जहाज छाप पर वोट देने की अपील करते हैं. 

निराला अंदाज

आर के शर्मा के चुनाव प्रचार का भी निराला अंदाज है. प्रचार के दौरान वे बड़ों से हाथ जोड़कर आशीर्वाद लेते हैं. युवाओं से कुशलक्षेम पूछते हैं. किसी के घर जाकर पीने का पानी मांगते हैं तो किसी से गुड़ देने की फरमाइश करते हैं. बड़े कारोबारी हैं. इसलिए जगह जगह लोग अपने बच्चों का बायोडाटा हाथ में लेकर उनका स्वागत करते हैं.

पार्टियों पर भरोसा नहीं 

आर के शर्मा किसी नेता को आम आदमी का हितैषी नहीं मानते हैं. वे कहते हैं आज जो भी नेता जाति और धर्म की बात कर रहे हैं. वे किसी के नहीं है. वे सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए ऐसी बातें कर रहे हैं. वे प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को भी निशाने पर लेते हैं. कहते हैं पीएम ने बिहार के लिए जो भी वादा किया है, उसे आजतक पूरा नहीं किया है. वे सिर्फ जुमलेबाजी कर रहे हैं.महागठबंधन पर भी आर के शर्मा को भरोसा नहीं है.उन्होंने कहा है कि आरजेडी परिवारवाद की परिचायक पार्टी है. मनेर के भाई विरेन्द्र काम करनेवाले नेता हैं. इसके बावजूद उनका टिकट काट दिया गया. उनके बदले परिवार के एक सदस्य को टिकट दे दिया गया. जनता यह सब देख रही है. इस बार पाटलिपुत्र में भारी फेर बदल की सम्भावना है.      

जीत का दावा

आर के शर्मा ने कहा की बड़ी पार्टियों के नेताओं को अपने काम पर भरोसा नहीं है. वे चुनाव में स्टार प्रचारकों को उतार रहे हैं. इसके माध्यम से वे आम जनता को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन स्टार प्रचारकों के बावजूद जनता उनके पक्ष में खड़ी है. वे जिधर भी जाते हैं. जनता उनके साथ होती है.



Find Us on Facebook

Trending News