मायके में पदस्थापित हैं एक उप समाहर्ता, राजद नेता ने अधिकारी को हटाने के लिए चुनाव आयोग से की शिकायत

मायके में पदस्थापित हैं एक उप समाहर्ता, राजद नेता ने अधिकारी को हटाने के लिए चुनाव आयोग से की शिकायत

पटनाः बिहार में विधान सभा के चुनाव होने वाले हैं।चुनाव आयोग ने चुनाव को लेकर आदर्श आचार संहिता लागू कर दिया है। साथ ही चुनाव आयोग ने बिहार के मुख्य सचिव को स्पष्ट निर्देश दिया है कि एक ही जिले में 3 साल से पदस्थापित अधिकारियों को हटाएं, साथ ही गृह जिले में तैनात अधिकारियों को भी चिन्हित कर हटाने का निर्देश है. बावजूद इसके मोतिहारी में एक उप समाहर्ता अपने मायके में ही पदस्थापित होने का पता चला है. इसके बाद मायके में पदस्थापित अधिकारी को हटाने के लिए चुनाव आयोग से शिकायत की गई है. मामला मोतिहारी का है जहां एक महिला उप समाहर्ता को हटाने के लिए चुनाव आयोग से शिकायत की गई है.

मायके में पदस्थापित अधिकारी को हटाने की मांग

मोतिहारी के अनिल कुमार जो प्रखंड राजद के अध्यक्ष हैं उन्होंने जिलाधिकारी मोतिहारी को पत्र भेजा है. पत्र में कहा गया है कि मायके में पदस्थापित उप समाहर्ता मेघा कश्यप को स्थानांतरित करने की कृपा की जाए. पत्र में कहा गया है कि उप समाहर्ता का जिले के पकड़ीदयाल प्रखंड के नवादा गांव में मायके है. पत्र में इनके पिता का नाम रघुवर सिंह उर्फ विनय सिंह एवं चाचा का नाम रामजी सिंह बताया गया है. इतना ही नहीं पत्र में यह भी कहा गया है कि इनकी शिक्षा भी मोतिहारी के श्री कृष्ण नगर में अपने चाचा रामजी सिंह के घर हुई थी.मायके होने के कारण और चाचा के यहां रह कर लंबे समय तक पढ़ाई किए जाने के कारण उनका आम लोगों से काफी परिचय है.

शिकायतकर्ता के अनुसार जिला स्तरीय अधिकारी के मायके में पदस्थापित होने के कारण चुनाव आयोग के निष्पक्ष व स्वतंत्र चुनाव कराने की कार्य योजना पर प्रश्न चिन्ह लग सकता है. लिहाजा ऐसे उप समाहर्ता को इस जिले से हटाकर दूसरे जिले में पदस्थापित किया जाए, ताकि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव संभव हो सके.

Find Us on Facebook

Trending News