गंगा घाटों पर सवा लाख दीये जलाकर मनायी गई देव दीपावली, रामरेखा घाट पर हुए अद्भुत गंगा आरती को देखते रह गए लोग

गंगा घाटों पर सवा लाख दीये जलाकर मनायी गई देव दीपावली, रामरेखा घाट पर हुए अद्भुत गंगा आरती को देखते रह गए लोग

BUXER : - गंगा तट पर बसे महर्षी विश्वामित्र की नगरी बक्सर, जिसे मिनी काशी भी कहा जाता है। जिसे उत्तरायणी गंगा और  ऋषियों की तपोभूमि एवं राम की शिक्षा स्थली होने की वजह से इस जगह का काफी महत्व भी माना जाता है। जहां श्री राम ने अहिल्या का उद्धार किया था, वहीं हनुमान का ननिहाल अहिरौली है, धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अहिल्या जी हनुमान जी की नानी है। पंचकोशी यात्रा का पहला पड़ाव अहिरौली से ही शुरू होता है, जहां राम ने भी लिट्टी चोखा खाए थे। जो आने वाले 24 नवंबर को शुरू होगा।

      आज शुक्रवार को कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर रात्रि 12:30 बजे से ही नेपाल सहित विभिन्न राज्यों से आए लाखों श्रद्धालु गंगा में स्नान शुरू कर देते हैं। वहीं लोग 'कार्तिक पूर्णिमा '" के संध्या पर देव् दीपावली के शुभ अवसर पर गंगा घाटों पर सवा लाख दीपक प्रज्ज्वलित कर तथा रामरेखा घाट पर भव्य गंगा आरती का आयोजन किया जाता है। वहीं लगभग सवा लाख दीपों से बक्सर के तमाम घाट जगमगाया उठे। गंगा आरती में बक्सर के गंगा आरती के सदस्यों सहित शहर के गणमान्य व्यक्तियों ने हिस्सा लिया। हजारों की संख्या में शहर के पुरुष महिलाएं एवं बच्चों ने मुख्य रूप से भाग लिया। मंत्रोचारण की सारी प्रकियाओं के बाद गंगा आरती की गयी,जिसमें हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने भी भाग लिया, इसे देखने के लिए भी लोग घाटो पर पहुंचे थे। साथ ही गंगा के हर घाटों पर दीपक प्रज्ज्वलित कर देव् दीपावली के इस पर्व को उत्साहपूर्वक मनाया गया।

कई कथाएं हैं प्रचलित

आपको बताते चलें कि देव् दीपावली को लेकर कई मान्यताएं भी हैं तथा कई पौराणिक कथाएँ भी सुनने को मिलती हैं। काशी नगरी बनारस में भी  सदियों से देव दीपावली का  त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता रहा हैं , जिसमें गंगा घाटों का बेहतरीन सजावट कर दीप प्रज्ज्वलित कर भव्य गंगा आरती का आयोजन किया जाता है। वहीं वहां मौजूद वार्ड पार्षद आशुतोष राय ने बताया कि बक्सर में पिछले 6 वर्षों से देव दीपावली का आयोजन होता रहा है। जो आज भी बड़े धूमधाम से देव दीपावली मनाया जा रहा है। पूर्व में यहां के लोग बनारस देव दीपावली देखने जाते थे, जो अब बक्सर में पिछले 6 वर्षों से अनवरत जारी है। लोगों से भी इसमें बढ़कर कर भाग लेने की अपील की गई।

     वहीं बक्सर एसडीएम धीरेंद्र मिश्रा ने बताया कि संस्कृतिक का पर्व को लोग हर्षोल्लास के साथ मनाएं, प्रशासन के तरफ से भेदभाव को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं वहीं एसडीओ ने कहा कि  के साथ देव दीपावली का पर्व गंगा घाटों पर पहुंचकर मनाए और खुद भी सुरक्षा का ख्याल रखें। आयोजकों को भी बधाई दी।

Find Us on Facebook

Trending News