ढाई माह में इस जिले में हो चुकी है 17 हत्याएं, अब विपक्ष उठा रहा स्थानीय सांसद और विधायक के अपनी सिक्योरिटी छोड़ने की मांग

ढाई माह में इस जिले में हो चुकी है 17 हत्याएं, अब विपक्ष उठा रहा स्थानीय सांसद और विधायक के अपनी सिक्योरिटी छोड़ने की मांग

 सीतामढ़ी। जिले में लगातार हो रही अपराधिक घटनाये और सत्ताधारी दलो के जनप्रतिनिधियों द्वारा दिये जा रहे विवादित बयान को ले विपक्ष को बड़ा मुद्दा दे दिया है। सीतामढ़ी जिला युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष मो शम्स शहनवाज ने जिले में हो रही अपराधिक घटनाओं पर खेद जताते हुए जिले के सांसद, विधायक और विधान पार्षदों को पत्र लिख सबो से अपने सुरक्षा गार्ड को सरकार को वापस करने का आग्रह किया है। 

उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों से कहा कि जनवरी से लेकर अबतक जिले में अपराधियों द्वारा 15 गोलीबारी की घटनाओं को अंजाम दिया गया है। जिस एक सब-इंस्पेक्टर सहित 17 लोगों की जान जा चुकी है, जिसको लेकर समय-समय पर नागरिकों एवं जन प्रतिनिधियों ने चिंता व्यक्त करते हुए राज्य सरकार एवं पुलिस महानिदेशक बिहार से कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के साथ आम आदमी को सुरक्षा देने की मांग की है। लेकिन सरकार के कान के ऊपर जूं नहीं रेंग रहा।

 उन्होंने कहा कि बीते  विधानसभा चुनाव के दौरान वर्तमान सरकार बिहार को जंगलराज से बचाने और आम आदमी के जान-माल की सुरक्षा के नाम पर वोट मांगा था। लेकिन अब जब भी कानून-व्यवस्था की बात आती है तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जोकि बिहार के गृहमंत्री भी हैं, वो खामोश हो जाते हैं। ऐसा लगता है कि मुख्यमंत्री और पुलिस महानिदेशक जनप्रतिनिधियों के आग्रह को भी सुनने को तैयार नहीं। 

जिले के लोगों के लिए छोड़ें अपनी सिक्योरिटी

इसलिए उन्होंने जिले के सभी जनप्रतिनिधियों से आग्रह किया है कि आम नागरिकों के हितों को ध्यान में रखते हुए अपनी सुरक्षा में लगे सुरक्षा गार्ड बिहार सरकार को वापस लौटा दें, और स्पष्ट कर दें कि जब तक सीतामढ़ी जिला के आम नागरिकों के जान-माल की सुरक्षा को लेकर पुख्ता इंतजाम नहीं किया जाता तब तक वो भी सरकारी सुरक्षा नहीं लेंगे।

Find Us on Facebook

Trending News