धनरुआ कांड : पहले पुलिस ने बरसाई लाठियां! फिर ग्रामीणों ने किया हमला, घटना से जुड़ा वीडियो हो रहा है वायरल

धनरुआ कांड : पहले पुलिस ने बरसाई लाठियां! फिर ग्रामीणों ने किया हमला, घटना से जुड़ा वीडियो हो रहा है वायरल

MASAURHI : पटना के मसौढी अनुमंडल के धनरूआ थाना क्षेत्र के मोरियामा में हुए बवाल का एक वीडियो ग्रामीणों के द्वारा लगातार वायरल किया जा रहा है जिसमें पुलिस गांव में पहुंचती है और उसी दौरान गांव में मौजूद लोगों पर लाठियां बरसानी शुरु कर देती है जिसकी तस्वीर भी साफ नजर आ रही है। जो वीडियो सामने आ रहा है उसमें यही दिखाई दे रहा है कि पुलिस मौके पर मसौढ़ी सर्किल इंस्पेक्टर के नेतृत्व में गांव में पहुंची है और फिर ग्रामीणों की भीड़ को देखकर वहां लाठियां बरसानी शुरू कर दी जिसका विरोध ग्रामीणों ने करना शुरू कर दिया और ग्रामीणों ने भी पुलिस पर रोड़े बरसाने शुरू कर दिए। जिसके बाद पुलिस ने फायरिंग करना शुरू कर दिया। 

ग्रामीणों का कहना है कि पहले पुलिसिया कार्रवाई हुई है जिसके बाद ग्रामीण उग्र हुए और  रोड़ेबाजी किया पुलिस अगर पहले लाठीचार्ज नहीं करती तो इतना बवाल नहीं होता जो तस्वीरें साफ कह रही है हालांकि पुलिस भी इस मामले में अपना बयान देकर ग्रामीणों पर ही यह आरोप मढ़ रहे हैं। मसौढ़ी सर्किल इंस्पेक्टर रामकुमार प्रसाद ने अपने बयान में कहा है कि ग्रामीण उग्र हो गया रोड़ेबाजी किया। उसके बाद पुलिसिया कार्रवाई हुई लेकिन तस्वीरें जो कह रही है उसमें यही लगता है कि पुलिस पहले कार्रवाई की और लाठी भांजी उसके बाद ग्रामीण उग्र हुए हैं। 

गौरतलब है कि धनरूआ थाना अंतर्गत मोरियावां  गांव में शुक्रवार की शाम पुलिस फ्लैग मार्च के दौरान एक जगह भीड़ देखकर ग्रामीणों को पीटना शुरू कर दिया और उसी के आक्रोश में ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर लगभग 20 से 25 पुलिसकर्मी को घायल कर दिया। पुलिस ने इस दौरान फायरिंग भी की जिसके जवाब में ग्रामीण भी रोड़ेबाजी करते रहे।  इस घटना में रोहित कुमार नाम का एक युवक को भी गोली लग गई जिससे उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी और इसको लेकर देर रात तक ग्रामीणों और पुलिस के बीच टकराव होता रहा था। देर रात मसौढी ASP के नेतृत्व में गांव में पहुच चुनाव तक कार्रवाई करने के आश्वाशन पर ग्रामीण शांत हुए और शव को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा।

वहीं इस मामले में मोरियामा मुखिया सुरेंद्र ने पुलिस पर आरोप लगते हुए कहा कि पुलिस रंजन नाम के प्रत्याशी के पक्ष में वोट दिलवाना चाह रही थी और उसी को लेकर के कार्रवाई कर रही थी और लोगों को डरा रही थी दिन में भी कार्रवाई पुलिस ने किया और रात में आकर के लाठी चलाई इसका विरोध ग्रामीणों ने किया। घटना के बाद ग्रामीण एकजुट होकर के मीटिंग कर रहे हैं और पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस ने बर्बरता दिखाई है पुलिस मौके पर पहुंचकर लाठीचार्ज शुरू कर दी है जिसमें महिला भी घायल हो गई है यही वजह है कि ग्रामीण आक्रोशित हुए और फिर रोडेबाजी किया है पुलिस ने लगातार फायरिंग की है जिससे गांव के एक शख्स रोहित कुमार की मौत भी हो गई है मौत पुलिस की गोली से ही बताया जाता है।

न्यूज4नेशन इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

Find Us on Facebook

Trending News