नहीं देखा ऐसा नजारा : मकर संक्रांति का त्योहार और गंगा घाट सुनसान, मजिस्ट्रेट की हुई तैनाती

नहीं देखा ऐसा नजारा : मकर संक्रांति का त्योहार और गंगा घाट सुनसान, मजिस्ट्रेट की हुई तैनाती

PATNA : देश सहित बिहार में कोरोना के तीसरी लहर में बढ़ते  मामले को देखते हुए प्रशासन ने मकर संक्रांति के अवसर पर लोगों के सामूहिक गंगा स्नान पर रोक लगा दी है। वहीं अन्य नदी और तालाबों में भी लोग सामूहिक स्नान नहीं कर पाएंगे। इस आदेश का पालन कराने के लिए सभी गंगा घाटों पर मजिस्ट्रेट सहित पुलिसकर्मियों की अतिरिक्त तैनाती की गई है। 

गुरुवार को डीएम और एसएसपी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के सभी एसडीओ, डीएसपी, बीडीओ, सीओ और थाना प्रभारी को इसका अनुपालन कराने का निर्देश दिया है।  जिसमें जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने पटनावासियों से अपील की है कि गंगा में सामूहिक तौर पर स्नान नहीं करें। बढ़ते संक्रमण को लेकर कही न कही जिला प्रशासनने ये अहम फैसला लिया है। इस दौरान एक जगह पर लोगो की भीड़ एकत्रित न हो जिसको लेकर भी लोगो से अपील की है। 


नावों के परिचालन पर भी रोक

वही गंगा में मकर संक्रांति त्योहारो पर प्राइवेट नावों के परिचालन पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई गई है दरअसल इस पर्व में जहाँ गंगा घाटों पर लोगो की भीड़ उमड़ता था इस वर्ष कोरोना संक्रमण ने ग्रहण लगा दिया है।गंगा घाट सुनसान पड़ा है लोग घरों में ही मकर संक्रांति का त्योहार मनाते नजर आ रहे हैं ।

बता दें कि मकर संक्रांति पर हर साल हजारों की संख्या में लोग गंगा स्नान के लिए पहुंचते हैं, लेकिन इस बार कोरोना गाइडलाइन के कारण जिला प्रशासन ने बेहद सख्ती दिखाई है. नतीजा यह है कि सारे घाट पर सिर्फ कुछ गिने चुने लोग ही पहुंचे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News