बिहार में हजारों मरीजों की बढ़ी मुश्किलें, स्टाइपेंड बढाने की मांग को लेकर जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल जारी, PMCH में OPD सेवा ठप

बिहार में हजारों मरीजों की बढ़ी मुश्किलें, स्टाइपेंड बढाने की मांग को लेकर जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल जारी, PMCH में OPD सेवा ठप

पटना. स्टाइपेंड बढ़ाने की मांग को लेकर राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल लगातार दूसरे दिन मंगलवार को भी जारी है. जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल के कारण PMCH में स्वास्थ्य सेवाओं पर भी असर पड़ा है. खासकर ओपीडी सेवा पूरी तरह चरमराइ दिखी. बड़ी संख्या में मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ रही है. लगातार दूसरे दिन हड़ताल जारी रहने के कारण मरीजों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. विशेषकर गंभीर रूप से बीमार और दूर दराज से आए लोगों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है. 

दरअसल, जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल का कारण उनका स्टाइपेंड कम होना है. छात्रों का कहना है कि हमलोगों को मात्र 15 हजार स्टाइपेंड मिलता है. उनकी मांग है कि उनका स्टाइपेंड 35 हजार रुपए प्रतिमाह कर दिया जाए जो व्यवस्था मानकों के अनुरूप है. साथ ही कई जगहों पर इस प्रकार से स्टाइपेंड मिला है. इसलिए उन्होंने कई दौर की वार्ता असफल होने के बाद अब हड़ताल पर जाने का निर्णय किया है. जूनियर डॉक्टर्स का कहना है जबतक उनकी मांग सुनी नहीं जाती तो तबतक हमलोगों का आंदोलन जारी रहेगा.

जूनियर डॉक्टरों ने अस्पताल परिसर और आसपास के इलाको में पदमार्च कर अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की. उन्होंने कहा कि यह कोई नई मांग नहीं है. पिछले तीन साल से उनकी मांगों को लंबित रखा गया है. बार बार की वार्ता के बाद भी आज तक उनकी मांगों पर सरकार की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया गया है. डॉक्टरों ने पीएमसीएच परिसर में पैदल मार्च निकालकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. हंगामे इस वजह से ओपीडी सेवा पूरी तरह ठप है.


न केवल पीएमसीएच में जूनियर डॉक्टरों ने हड़ताल की है बल्कि पटना और राज्य के कई अन्य अस्पताओं में भी इसी तरह की हड़ताल जारी है. अलग अलग मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने भी इस हड़ताल को अपना समर्थन दिया है. उन्होंने अपने अपने अस्पताल में सरकर के खिलाफ हड़ताल कर रखा है जिससे ओपीडी सेवा चरमरा गई है. 


Find Us on Facebook

Trending News