पत्रकार से मारपीट मामले में डीआईज्ञी ने दिए जांच के निर्देश, दोषी पाए जाने पर थानेदार पर होगी कार्रवाई

पत्रकार से मारपीट मामले में डीआईज्ञी ने दिए जांच के निर्देश, दोषी पाए जाने पर थानेदार पर होगी कार्रवाई

PATNA: पत्रकार के साथ फुलवारीशरीफ थानेदार द्वारा बदसलूकी के मामले को डीआईजी राजेश कुमार ने संज्ञान में लिया है. उन्होंने सिटी एसपी(पश्चिम) को इस मामले की जांच का निर्देश दिया है. उन्होंने पटना की एसएसपी को भी निर्देश दिया है कि मामले में थानेदार दोषी पाए जाते है तो लाइन हाज़िर कर दिया जाये. बताते चले की पटना से सटे फुलवारीशरीफ के थानेदार कैसर आलम एक मामले की जानकारी लेने गए पत्रकार के साथ मारपीट पर उतारू हो गए. दरअसल 19 मई को खलीलपुरा और अल्बा कॉलोनी में दो युवकों की हत्या हुई थी. इसी मामले की जानकारी लेने के लिए एक अखबार के पत्रकार मसूद आलम थाना गए थे. उस वक़्त थानेदार भी थाना में ही मौजूद थे. पत्रकार को देखते ही वे आग बबूला हो गए. इसी बीच पत्रकार और थानेदार से बहस हो गई.

पत्रकार ने इस घटना की सूचना अपने साथियों को दी. जिसके बाद इस मामले की जानकारी डीजीपी से एडीजी मुख्यालय, आईजी, डीआईजी और एसएसपी को दी गई. बिहार श्रमजीवी यूनियन ने भी इसकी जानकारी एडीजी मुख्यालय को दी थी. कैसर को फुलवारीशरीफ थानेदार के पद से हटाये जाने की मांग की गई थी.

दरोगा से भी कर चुके हैं मारपीट

इसके पहले कैसर आलम पीरबहोर में थानेदार रह चुके हैं. वहाँ भी कैसर पर दो दरोगा ने मारपीट करने का आरोप लगाया था. मामला वरीय अधिकारी तक पहुंच गया था. लेकिन मामले को आगे बढ़ता देख अधिकारियों ने दोनों दारोगा को वहां से हटा दिया था.

पटना से कुंदन की रिपोर्ट


Find Us on Facebook

Trending News