कमान के बदले जिला समादेष्ट मांगते है रिश्वत, होमगार्ड जवानों ने लगाया आरोप, विधायक से लगाई गुहार

कमान के बदले जिला समादेष्ट मांगते है रिश्वत, होमगार्ड जवानों ने लगाया आरोप, विधायक से लगाई गुहार

BOKARO : बिना घूस लिए गृह रक्षा वाहिनी के पदाधिकारी कमान निर्गत नहीं करते. ऐसा ही एक वीडियो होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने विधायक विरंची नारायण को सौपा. उन्होंने विधायक से गुहार लगाया कि ऐसे जिला समादेष्टा से हम गृह रक्षकों को बचाए. इस मामले में विधायक विरंची नारायण ने होमगार्ड के डीजी से बात कर पूरे मामले की जांच कराने की मांग की है. 

वहीं जिला समादेष्टा ने भी पूरे मामले पर सफाई देते हुए कहा कि जो भी आरोप लग रहे है. वह सीधे तौर पर गलत है. उन्होंने कहा कि जो वीडियो पैसा लेते दिखाया जा रहा है. वह कब का है. उनके आने के बाद का है, पहले का या फिर इस कार्यालय का है भी कि नहीं. जिस तरह गृह रक्षा वाहिनी के पदाधिकारियों और कर्मियो पर पैसा लेकर कमान काटने के आरोप लगे है. उसकी गुंज जिले के डीसी के साथ राज्य के डीजीपी और गृह रक्षा वाहिनी के डीजी के पास भी पहुंची है. इन अधिकारियो को पत्र भेज कर जिले से भ्रष्ट जिला समादेष्टा को हटाने की मांग की गयी है. 

बताते चले कि 10 जुलाई को एसीबी धनबाद की टीम ने गृह रक्षा वाहिनी के कंपनी कमांडर नीलकंठ महतो और गृहरक्षक ध्रुव कुमार को 25 सौ रुपए घूसे लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया था. ऐसे में समझा जा सकता है कि गृह रक्षा वाहिनी में सबकुछ ठीक ठाक नही है. विधायक समेत अन्य अधिकारियो को भेजे पत्र में कहा जा रहा है कि गृहरक्षकों को कमान देने के नाम पर तीन हजार से लेकर सात हजार ऑफिस के दलालो के द्वारा वसूला जा रहा है. अब आरोप में कितनी सच्चाई है और यह तो जांच के बाद पता चल सकेगा. 

लेकिन जिस तरह कमान काटने के नाम पर पैसे की उगाही की जाती है. यह कोई नहीं बात नहीं है. ऐसे आरोप इस कार्यालय पर पूर्व से लगते रहे है. लेकिन मामले में किसी गृहरक्षक के सामने नहीं आने के कारण मामला दबता रहा है. इधर गृहरक्षक होमगार्ड के कई यूनियन ने जिला समादेष्टा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और अब यह गुंज जिले में न सिर्फ सुनायी पड़ रही है बल्कि दिखने भी लगा है.

बोकारो से मृत्यंजय की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News