जिलाधिकारी ने की साप्ताहिक समीक्षा बैठक, पदाधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

जिलाधिकारी ने की साप्ताहिक समीक्षा बैठक, पदाधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

GAYA : जिलाधिकारी अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय सभाकक्ष में सभी विभागों के पदाधिकारियों के साथ साप्ताहिक समीक्षा बैठक की गई. बैठक में जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने बताया कि 2 अक्टूबर 2019 को जल, जीवन और हरियाली अभियान का उद्घाटन किया जाएगा. उन्होंने संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया की जिले में जितने आहर, पाइन, तालाब, पोखर में अतिक्रमण है. उन सबों को 30 नवंबर तक अतिक्रमण मुक्त कर लिया जाये. उन्होंने संबंधित पदाधिकारियों को अपने अपने प्रखंड के अंचलाधिकारी से 7 दिनों के अंदर जल स्रोतों की मापी करा लेने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि गया जिला में जितने भी आहर, पाइन, पोखर, तालाब हैं उन सभी का जिओ टैगिंग कराना अनिवार्य है. उन्होंने कहा कि जल जीवन हरियाली के तहत ऊर्जा को भी बचाना है. आवश्यकतानुसार बिजली को यूज करें. उन्होंने सभी पदाधिकारी को निर्देश दिया कि अपने कार्यालय में आवश्यकता अनुसार बिजली पंखा, एसी, कूलर, मरकरी, बल्ब का प्रयोग करें. जिससे बिजली संचय किया जा सके. उन्होंने सभी शाखाओं में प्लांटेशन एवं रूफटॉप वाटर हार्वेस्टिंग लगवाने का निर्देश दिया.

इस मौके पर जिलाधिकारी ने जिन कार्यालयों में, नगर निगम में, नगर पंचायत में या शिक्षा विभाग में पौधारोपण किया गया है उसका रिपोर्ट  मांगा, जिससे भारत सरकार और बिहार सरकार के पोर्टल पर आंकड़ा अपलोड किया जा सके. जल जीवन हरियाली में जो अच्छा कार्य करेंगे उन्हें सम्मानित किया जाएगा. कृषि विभाग की समीक्षा में जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि अब तक 44252 किसानों के बीच 2956 क्विंटल बीज बांटा गया है. डीजल अनुदान के तहत जाँचोपरांत सभी किसानों को डीजल अनुदान की राशि ससमय देने का निर्देश दिया. इसके उपरांत उन्होंने फसल सहायता भत्ता के कार्यों की प्रगति की जानकारी ली. पीएचईडी की समीक्षा में बताया गया कि 240 वार्ड में टेंडर हो चुका है, 97 वार्ड में री टेंडर किया गया है. उन्होंने कहा कि 100 वार्डों में इस सप्ताह में कार्य प्रारंभ किया जा रहा है. 

जिलाधिकारी ने कार्यपालक पदाधिकारी नगर पंचायत बोधगया को निर्देश दिया कि सोमवार, मंगलवार, बुधवार एवं वृहस्पतिवार को बोधगया के कार्यालय में रहेंगे एवं शुक्रवार, शनिवार को शेरघाटी कार्यालय में रहेंगे।

जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में लो वोल्टेज की समस्या का निदान करें. उन्होंने कहा कि नल जल का बोरिंग जहां जहां हुआ है. वहां बिजली का कनेक्शन दिया जाना है. जिसके लिए विद्युत कार्यपालक अभियंता ने पीएचईडी कार्यपालक अभियंता से सूची की मांग की. उन्होंने शौचालय निर्माण, घर का सम्मान योजना के तहत निर्देश दिया कि 15 सितंबर से 30 सितंबर तक विशेष अभियान चलाकर वेरिफिकेशन के उपरांत भुगतान दिया जाए. उन्होंने पीएचडी के कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि जिला शिक्षा पदाधिकारी से लिस्ट प्राप्त कर सभी सरकारी विद्यालयों में जहाँ शौचालय टूटा हुआ है वहां शौचालय निर्माण कराया जाए. जिलाधिकारी ने शहरी क्षेत्र के विद्युत कार्यपालक अभियंता से लो सीडिंग होने की जानकारी ली. उन्होंने कहा कि पितृपक्ष मेला में लो सीडिंग बर्दाश्त नहीं की जाएगी. जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता ग्रामीण कार्य विभाग के अनुपस्थित पाए जाने पर उनसे स्पष्टीकरण की मांग की गई. डोर टू डोर कचरा उठाव प्रारंभ नहीं किए जाने पर शेरघाटी के कार्यपालक अभियंता से स्पष्टीकरण की मांग की गई. इसके उपरांत उन्होंने लोक शिकायत के प्रगति की जानकारी ली. 

बैठक में सहायक समाहर्ता के एम अशोक, अपर समाहर्ता राजकुमार सिन्हा, जिला भू अर्जन पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला स्तरीय सभी पदाधिकारी उपस्थित थे. 

गया से मनोज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News