गया में जिला उर्वरक निगरानी समिति की बैठक में शामिल हुए डीएम, उर्वरकों के वितरण में पारदर्शिता बरतने का दिया निर्देश

गया में जिला उर्वरक निगरानी समिति की बैठक में शामिल हुए डीएम, उर्वरकों के वितरण में पारदर्शिता बरतने का दिया निर्देश

GAYA : समाहरणालय, गया के सभाकक्ष में जिला पदाधिकारी, गया की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गयी। जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि इस रबी मौसम में 37000 मे० टन यूरिया, 8000 मे० टन डी०ए०पी०, 3200 मे० टन एन०पी०के० एवं 2500 मे० टन एस०एस०पी की जरुरत होगी। वर्तमान में जिले में 6094 मे० टन डी०ए०पी० 3037 मे० टन, 94 मे० टन पोटाश, 4232 मे० टन एन०पी०के० एवं 4066 मे० टन एस०एस०पी उपलब्ध है। 


वहीँ विधायिका ज्योति देवी के प्रतिनिधि रामविलास शर्मा ने कहा कि यूरिया की आवश्यकता 37000 मे० टन के विरुद्ध अभी मात्र 6904 मे० टन यूरिया उपलब्ध है जो काफी कम है। जिला कृषि पदाधिकारी ने कहा कि जिले में यूरिया का रेक लगातार आ रहा है। इसकी कमी नही होगी। रामविलास शर्मा ने कहा कि रबी मौसम में एक बार वर्षा अवश्य हो जाती है। ऐसी स्थिति में सभी किसान अपने फसलों में एक ही समय अवधि में यूरिया का उपरिवेशन शुरु कर देते है जिससे उर्वरक प्रतिष्ठानों पर भारी भीड़ जमा हो जाती है एवं कालाबाजारी की शिकायत प्राप्त होती है। उन्होंने इसके लिये सभी उर्वरक प्रतिष्ठानों पर पर्याप्त मात्रा में यूरिया की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का अनुरोध किया।

जबकि जीतनराम माँझी, पूर्व मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि विरेन्द्र प्रसाद ने बताया कि अभी गेहूँ की बुआई प्रारंभ हो रही है। अभी तत्काल फाॅस्फेटिक उर्वरकों की आवश्यकता है। इसकी उपलब्धता पर ध्यान रखा जाय। जिला पदाधिकारी ने सभी उर्वरक प्रतिष्ठानों में उपलब्ध उर्वरकों का भौतिक सत्यापन शीघ्र करा लेने का निर्देश दिया।

जिला पदाधिकारी उर्वरकों के वितरण में पूर्ण पारदर्शिता बरतने का निर्देश दिया। इसके लिये उर्वरक प्रतिष्ठानों पर लगातार छापामारी की जाय। उन्होंने सभी प्रखंडों में प्रखंड अनुश्रवण समिति की बैठक शीघ्र आयोजित करा लेने का आदेश दिया। जिले में उर्वरक से संबंधित शिकायतों को दूर करने के लिये जिला कृषि कार्यालय, गया में एक उर्वरक नियंत्रण कोषांग स्थापित करने का निर्देश दिया। इस बैठक में विधायिका, बाराचट्टी एवं विधायक इमामगंज के प्रतिनिधि के अलावा जिला सहकारिता पदाधिकारी एवं जिला कृषि पदाधिकारी उपस्थित थे।

गया से मनोज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News