मुंगेर में डीएम ने खो-खो प्रशिक्षण केंद्र का किया शुभारंभ, खिलाडियों को दी बधाई

मुंगेर में डीएम ने खो-खो प्रशिक्षण केंद्र का किया शुभारंभ, खिलाडियों को दी बधाई

MUNGER : बिहार राज्य खेल प्राधिकरण के तत्वावधान में मंगलवार को सभी जिलों में खेलो इंडिया के तहत विभिन्न खेल विधाओं का एक एक प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ किया गया। इसके तहत मुंगेर जिले में किला परिसर स्थित इंडोर स्टेडियम में खो-खो प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ किया गया। प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह ने फीता काट कर किया। इस मौके पर जिला खेल पदाधिकारी चंदन कुमार, खो-खो की प्रशिक्षिका सीमा कुमारी, हरिमोहन कुमार सहित सभी खो-खो खिलाड़ी उपस्थित थे।

प्रशिक्षण केंद्र के उद्घाटन मौके पर जिलाधिकारी ने कहा कि आज बाल दिवस के मौके पर खेलो इंडिया कार्यक्रम के तहत खो-खो प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन हो रहा है जो अत्यंत ही सराहनीय है। सभी बच्चों को उन्होंने बाल दिवस की शुभकामनाएं भी दी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने एक नई नीति बनाई है, जिसका स्लोगन ही है मेडल लाओ नौकरी पाओ। इसके तहत जो भी खिलाड़ी किसी भी खेल विधा में राष्ट्रीय स्तर पर मेडल लाएगा। उसे राज्य सरकार उनकी शैक्षणिक योग्यता के आधार पर उन्हें नौकरी मुहैया कराएगी। अभी आप सभी बाल खिलाड़ी हैं और अभी से ही यदि आप अपनी अपनी खेल विधा में सक्रियता और पूरी लग्न के साथ अपनी खेल प्रतिभा का बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे तो निश्चित तौर पर आगे चलकर और बड़े होकर अपने खेल कौशल से राष्ट्रीय स्तर पर मेडल हासिल कर सकते हैं। 

राज्य सरकार के आंकड़ों के मुताबिक अब तक लगभग 200 खिलाड़ियों जिन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर मेडल प्राप्त किया है, उन्हें नौकरी दी जा चुकी है। आगे भी यदि बिहार के खिलाड़ियों द्वारा अपनी खेल विधा में बेहतरीन प्रदर्शन कर मेडल लाया जाएगा तो उन्हें भी नौकरी दी जाएगी। उन्होंने कहा की वैसे बच्चे या युवा जिन्हें पढ़ाई के बजाय किसी भी खेल में ज्यादा रूची है, वो अपने खेलविधा के उत्कृष्ट खिलाड़ी हैं और खेल प्रतिभा से राष्ट्रीय स्तर पर मेडल प्राप्त कर भी नौकरी ले कर अपने भविष्य को संवार सकते हैं। उन्होंने उपस्थित सभी बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि यदि इसी खेल में आप अपनी प्रतिभा और भविष्य देखते हैं तो खेल में अपनी बेहतर और उत्कृष्ट प्रदर्शन से अपना भविष्य संवार सकते हैं, आप भी राष्ट्रीय स्तर पर मेडल लोकर नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने जिला खेल पदाधिकारी को भी इस प्रशिक्षण केंद्र के सफल संचालन के लिए शुभकामनाएं देते हुए सभी बाल खिलाड़ियों को प्रशिक्षिका के माध्यम से कुशल प्रशिक्षण दिलवाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि एक बेहतरीन प्रशिक्षक के बदौलत ही कोई भी खिलाड़ी अपनी छुपी हुई प्रतिभा को और निखार कर उत्कृष्ट प्रदर्शन कर उत्कृष्ट खिलाड़ी बन सकता है। इसलिए सभी खिलाड़ी इस प्रशिक्षण केंद्र का लाभ उठाएं और अपना भविष्य बेहतर बनाएं। 

जिला खेल पदाधिकारी ने बताया कि इस प्रशिक्षण केंद्र में अंडर 14 खो-खो के लिए जिले के विभिन्न सरकारी एवं निजी विद्यालयों के 15 बालक और 15 बालिका कुल 30 खिलाड़ियों का चयन किया गया है। इनमें अंडर 14 बालक वर्ग में ऋद्धिनाथ सुंदरम, आकाश कुमार, राहुल कुमार, अनिकेत कुमार रमण, सौरभ कुमार, आर्यन कुमार, निशांत कुमार, सत्यम कुमार, आदर्श कुमार, आयुष कुमार, अंशु आर्यन, विशाल कुमार, इंजीनियर कुमार, प्रिंस कुमार तथा साहिल सागर शामिल है। जबकि अंडर 14 बालिका वर्ग में साक्षी कुमारी, प्राची कुमारी, सोम्या राज, रौशनी कुमारी, मधु कुमारी, संध्या कुमारी, सुमन कुमारी, प्रियंका कुमारी, अनन्या कुमारी, सृष्टि कुमारी, आरती कुमारी, रिंकी कुमारी, संजना कुमारी सहित अन्य शामिल है। सभी खिलाड़ियों को खो-खो की प्रशिक्षिका सीमा कुमारी द्वारा सुबह 7 से 9 तथा संध्या में 4 से 7 बजे तक प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण केंद्र का उद्देश्य इन खिलाड़ियों को खेल के प्रति जागरूक करना और संबंधित विधाओं में पारंगत हासिल कर उत्कृष्ट खिलाड़ी बनाना है, ताकि वो अपने उत्कृष्ट खेल के प्रदर्शन से राष्ट्रीय स्तर पर मेडल प्राप्त कर जिले और राज्य का नाम रौशन कर नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

मुंगेर से इम्तियाज़ अहमद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News