मोतिहारी : गेंहूँ के खेत में पहुंचे जिलाधिकारी खुद काटने लगे फसल, जानिये पूरा मामला

मोतिहारी : गेंहूँ के खेत में पहुंचे जिलाधिकारी खुद काटने लगे फसल, जानिये पूरा मामला

MOTIHARI : मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक सहित पदाधिकारी की टीम गेंहू फसल का निरीक्षण करने पहुचे, जहाँ डीएम किसानों के साथ मिलकर खुद गेंहू का फसल काटने लगे. वही किसानों से गेहूं फसल में बोए गए बीज की वेराइटी,पानी पटवन,खाद प्रयोग की जनकारी ली गई. काटी गई फसल के पैदावार की भी जांच किया गया. पैदावार के हिसाब से 40 किविंटल 76 किलो प्रति हेक्टेयर होने की उम्मीद जतायी गई. 

बताते चलें की डीएम  शनिवार को  बंजरिया पंचायत के सिंघिया सागर गांव स्थित किसान बृज किशोर पाण्डेय के खेत में पहुंचकर गेहूं फसल की कटाई की. कटनी करने के लिए अर्थ व सांख्यिकी निदेशालय बिहार पटना द्वारा प्रायोजित पंचायतस्तरीय रबी गेहूं फसल कटनी प्रयोग के लिये किसान बृजकिशोर पांडेय की खेत को चयनित किया गया था. डीएम के साथ डीपीआरओ भीम शर्मा, डीएओ चन्द्रदेव प्रसाद, डीसीओ निर्मल कुमार भी थे. सभी ने किसानों के साथ मिलकर गेहूं की कटाई की. इस अवसर पर कटाई के बारे में पूछने पर डीएम ने बताया कि इसका उद्देश्य फसल की उपज के बारे में जानना है. कितना हेक्टेयर में कितना उपज हो रहा है. इसके लिए जिला कृषि पदाधिकारी तथा प्रखंड कृषि पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि वे काटे गए गेहूं की थ्रेसिंग कर क्षेत्र के हिसाब से पता करके बतावें कि कितना उपज हुआ है. 

ज्ञात हो कि जिला सांख्यिकी कार्यालय के द्वारा प्रदत आयोजन सूची व रैंडम नंबर के आधार पर चयनित खेसरा संख्या 904 के खेत का निर्धारण नक्शे की सहायता से  प्रयोग संपादन हेतु किया गया था. इस खेसरा के रैयत किसान  बृजकिशोर पांडेय भी प्रयोग के दौरान उपस्थित रहे. रैंडम तालिका स्तंभ के आधार पर खेत में 10 मीटर लंबाई एवं 5 मीटर चौड़ाई के आयताकार प्रयोगात्मक खंड का निर्धारण किया गया. जिसके बाद खेत में लगे गेहूं के फसल की कटाई की गई. कटाई करने के बाद गेंहू के हरे दाने का वजन किया गया. जिसका वजन 20 किलो 380 ग्राम हुआ. इस आधार पर प्रति हेक्टेयर गेहूं की उत्पादकता 40 क्विंटल 76  किलोग्राम आंकी गई. बता दे कि बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत बीमित फसलों के क्षतिपूर्ति के निर्धारण एवं उत्पादकता दर को ज्ञात करने के लिए अर्थ एवं सांख्यिकी निदेशालय बिहार पटना के द्वारा खरीफ व रबी मौसम में अधिसूचित बीमित फसलों भदई मकई, अगहनी धान, रबी गेहूं एवं रबी मकई फसल का पंचायतस्तरीय फसल कटनी प्रयोग आयोजित किया जाता है. जिसके अंतर्गत प्रत्येक पंचायत में 5-5 प्रयोग संपादित कर इसका डाटा ऐप के माध्यम से विभागीय पोर्टल पर अपलोड किया जाता है. फसल कटनी प्रयोग के लिए प्राथमिक कार्यकर्ता के रूप में प्रखंड सांख्यिकी पदाधिकारी, प्रखंड कृषि पदाधिकारी, अंचल निरीक्षक, कृषि समन्वयक एवं किसान सलाहकार शामिल रहते हैं.

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News