गया डीएम ने अंबेडकर आवासीय छात्रावास का किया निरीक्षण, नए भवन में शिफ्ट नहीं किए जाने पर जताई नाराजगी

गया डीएम ने अंबेडकर आवासीय छात्रावास का किया निरीक्षण, नए भवन में शिफ्ट नहीं किए जाने पर जताई नाराजगी

GAYA : आज नगर निकाय चुनाव के प्रथम चरण में किये जा रहे मतदान का जायजा लेने के दौरान ज़िला पदाधिकारी गया डॉ० त्यागराजन एसएम द्वारा शेरघाटी प्रखंड के गोपालपुर पंचायत में संचालित अंबेडकर आवासीय छात्रावास का औचक निरीक्षण किया। जिला पदाधिकारी ने अंबेडकर आवासीय छात्रावास के शिक्षक से जानकारी प्राप्त किया की अब तक छात्रावास नए भवन में शिफ्ट क्यों नही हुआ है। उपस्थित शिक्षक द्वारा बताया गया कि पिछले 5 माह पूर्व ही यह भवन का निर्माण कार्य पूर्ण होकर अब पूरी तरह तैयार है। बिजली कनेक्शन नहीं रहने के कारण तथा छोटी-छोटी अन्य समस्या के कारण अब तक कल्याण विभाग को उक्त नए भवन हैंडोवर नहीं किया गया है।


जिला पदाधिकारी ने जिला कल्याण पदाधिकारी को निर्देश दिया कि जिले में किन-किन क्षेत्रों में नए अंबेदकर आवासीय छात्रावास निर्माण के प्रस्तावित है तथा उसके विरुद्ध कितने आवासीय छात्रावास बनकर तैयार है। साथ ही कितने अंबेडकर आवासीय छात्रावास कल्याण विभाग को स्थानांतरण किया गया है। इन सभी बिंदुओं पर 24 घंटे के अंदर स्पष्ट प्रतिवेदन उपलब्ध करावे।

उन्होंने गोपालपुर अंबेडकर आवासीय छात्रावास शेरघाटी के संबंध में जिला कल्याण पदाधिकारी को निर्देश दिया कि छोटी-छोटी समस्याओं के निराकरण करते हुए बिजली कनेक्शन ले तथा 7 दिनों के अंदर नए भवन में छात्रावास को शिफ्ट करें। जिला पदाधिकारी ने खुशी जाहिर किया कि काफी आकर्षक एवं भव्य रूप के साथ-साथ अत्याधुनिक मॉडल में बने अंबेडकर आवासीय छात्रावास यहां रहने वाले विद्यार्थियों को काफी अच्छा महसूस करेंगे।

इसके उपरांत पुराने भवन में संचालित अंबेडकर आवासीय छात्रावास गोपालपुर में छात्रों के लिए बनाए जा रहे भोजन का निरीक्षण किया। भोजन के गुणवत्ता की जांच जिला पदाधिकारी द्वारा खुद चावल दाल सब्जी को डब्बू से चलाकर देखा तथा विद्यार्थियों के बीच स्वयं खुद जिला पदाधिकारी द्वारा थाली में खाना को परोसा। जिला पदाधिकारी ने मौजूद छात्रों से उनके हालचाल एवं भोजन की गुणवत्ता के बारे में जानकारी लिया। इसके साथ ही उन्होंने बच्चों से पूछा कि उक्त आवासीय छात्रावास में नियमित पढ़ाई लिखाई होती है अथवा नहीं। सभी विद्यार्थियों ने जवाब दिया कि काफी अच्छे तरीके से इस विद्यालय में पठन-पाठन होता है तथा भोजन भी समय पर मीनू के अनुसार गुणवत्तापूर्ण दिया जाता है। उक्त छात्रावास में 400 विद्यार्थियों की क्षमता है, जिस के उपलक्ष्य में वर्तमान में 225 विद्यार्थी पठन-पाठन कर रहे हैं। यहां विद्यार्थी पटना, अरवल, जहानाबाद, औरंगाबाद, नवादा जैसे जिलों से आकर पढ़ रहे हैं।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News