लगातार हो रही मारपीट की घटनाओं से सहमे राज्यभर के डॉक्टर, आत्मरक्षा के लिए सरकार से मांगेंगे आर्म्स लाइसेंस

लगातार हो रही मारपीट की घटनाओं से सहमे राज्यभर के डॉक्टर, आत्मरक्षा के लिए सरकार से मांगेंगे आर्म्स लाइसेंस

NEWS4NATION DESK : लगातार हो रही मारपीट की घटनाओं से झारखंड के डॉक्टरों में दहशत व्याप्त है। अब वे अपनी आत्मरक्षा के लिए सरकार से आर्म्स लाइसेंस की मांग करने का निर्णय किया है। इस बाबत झारखंड के धनबाद शहर में डॉक्टरों ने बैठक का आयोजन किया। 

बैठक में शामिल आईएमएम (इंडियन मेडिकल एसोसिएशन) झारखंड के अध्यक्ष डॉ एके सिंह ने इसके लिए राज्य के गृह सचिव से मिलने की बात कही। बैठक में रांची के जाने माने प्लास्टिक सर्जन डॉ अनंत सिन्हा, धनबाद आईएमए के सचिव डॉ सुशील, पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ एचके सिंह, डॉ के विश्वास समेत धनबाद व आसपास के जिलों के कई डॉक्टर मौजूद थे। 

बैठक वास्तव में देवकमल हॉस्पिटल द्वारा प्लास्टिक सर्जरी पर आयोजित एक सीएमई (कंटीन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन) थी। इसमें डॉक्टरों की सुरक्षा का मामला उठ गया। देवघर में डॉक्टर के साथ मारपीट, संजीवनी नर्सिंग होम में फायरिंग, डुमरी में सरकारी डॉक्टर से मारपीट आदि घटनाओं का उदाहरण देते हुए डॉक्टरों ने कहा कि सरकार उनकी सुरक्षा की जिम्मेवारी लेने को तैयार नहीं है। उन्हें स्वयं अपनी सुरक्षा का इंतजाम करना होगा। 

डॉ अनंत सिन्हा ने डॉक्टरों को अपने हॉस्पिटल व नर्सिंग होम में आर्म्स गार्ड रखने की सलाह दी। डॉक्टर इसके लिए तैयार नहीं हुए। उन्होंने स्वयं आर्म्स लाइसेंस लेने की बात कही। डॉ के विश्वास ने कहा कि डॉक्टरों के साथ घटना होने पर पुलिस और जनता कोई मदद नहीं करती। अपनी सुरक्षा के लिए हमें खुद तैयार रहना होगा। लाइसेंसी पिस्टल रखना गैर-कानूनी नहीं है।

Find Us on Facebook

Trending News