दहेज़मुक्त विवाह के शपथ के साथ तीन दिवसीय संगत-पंगत कार्यक्रम का हुआ समापन

दहेज़मुक्त विवाह के शपथ के साथ तीन दिवसीय संगत-पंगत कार्यक्रम का हुआ समापन

PATNACITY : श्री चित्रगुप्त आदि मंदिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष और भाजपा के राज्यसभा सदस्य आरके सिन्हा ने कायस्थ समाज से आह्वान किया है कि वह न केवल अपने समाज में दहेज़ प्रथा जैसी सामाजिक विकृतियों का विरोध करें. बल्कि तामझाम और खर्चीली शादियों का भी परित्याग करें. उन्होंने कहा कि कायस्थ समाज देश का सबसे बुद्धीजीवी समाज है. ऐसे में हमें आगे बढ़कर ऐसी सामाजिक बुराइयों के खिलाफ डटकर खड़ा होना चाहिए. आर के सिन्हा रविवार को पटना सिटी के नौजरघाट स्थित प्राचीन श्री आदि चित्रगुप्त मंदिर के प्रांगण में आयोजित तीन दिवसीय संगत-पंगत कार्यक्रम के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे. इस मौके पर उन्होंने भाजपा के कुम्हरार विधायक अरुण कुमार सिन्हा, जदयू के विधान पार्षद रणवीर नंदन, तख़्त श्री हरमंदिर साहेब गुरुद्वारा प्रबंध समिति के महासचिव महेन्द्रपाल सिंह ढिल्लन समेत पटना नगर निगम के आठ वार्ड पार्षदों व अन्य जनप्रतिनिधियों को सम्मानित किया. संगत-पंगत के इस आखिरी एवं खुले सत्र में कायस्थ समाज में दहेज़ प्रथा जैसी कुरीतियों पर चर्चा हो रही थी.

चर्चा में भाग लेते हुए सांसद आरके सिन्हा ने कहा कि कायस्थ समाज में दहेज़ प्रथा जैसी कुरीतियों ने पूरे समाज को विचलित कर रखा है. ऐसे में समय की मांग है कि हमें इस प्रथा के खिलाफ आवाज उठाना होगा. साथ ही तड़क-भड़क वाली ख़र्चीली शादियों से भी तौबा करना होगा. उन्होंने कायस्थ समाज में सामूहिक विवाह पर जोर दिया और कहा कि अगर हमारे समाज के लोग श्री आदि चित्रगुप्त मंदिर के प्रांगण में विवाह करते हैं तो शादी का पूरा खर्च मदिर प्रबंध समिति उठाएगी. जिसमें न केवल मेहमानों के स्वागत और भोज का प्रबंध होगा. बल्कि सजावट और बैंड-बाजे का भी इंतजाम होगा. 

उन्होंने आगत अथितियों से अपने समाज के सम्बन्ध में सकारात्मक सुझाव देने की बात कही. इस मौके पर भाजपा के स्थानीय विधायक अरुण कुमार सिन्हा ने कहा कि कायस्थ जिस जगह रहते हैं. वहां उनकी  अपने पड़ोसियों से अच्छी बनती है. अब जरुरत है कि वे वैसा ही सम्बन्ध अपने घर में अपने भाइयों के साथ भी बनाकर रखें. विधान पार्षद रणवीर नंदन ने कहा कि इस प्राचीन श्री चित्रगुप्त आदि मंदिर के पुनर्निर्माण में हमारे अभिभावक आरके सिन्हा और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सबसे बड़ा योगदान है. उन्होंने कायस्थ समाज में दहेज़ जैसी कुरीतियों का जमकर विरोध करने की वकालत की. कहा समाज के सबसे प्रबुद्ध वर्ग से आने का हमें जो सम्मान प्राप्त है. उसे हम दहेज़मुक्त शादियों से नई दिशा दे सकते हैं.

पटनासिटी से रजनीश की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News