दहेजलोभी दानव : 50 हजार के लिए विवाहिता सहित गर्भ में पल रहे आठ माह के बच्चे की कर दी हत्या

दहेजलोभी दानव : 50 हजार के लिए विवाहिता सहित गर्भ में पल रहे आठ माह के बच्चे की कर दी हत्या

MADHEPURA : शंकरपुर थाना क्षेत्र के दमगारा वार्ड संख्या-छह में दहेज के दानवों ने सिर्फ 50 हजार के लिए एक आठ माह की गर्भवती की गला दबाकर हत्या कर दी गई। मामला सामने आने के बाद  मृतका के परिजनों ने थाने में दामाद सहित तीन लोगों पर हत्या का केस दर्ज कराया है।

दो साल पहले हुई थी शादी, बढ़ती गई डिमांड
भर्राही ओपी क्षेत्र के चौसार वार्ड संख्या-14 निवासी नरेश शर्मा का कहना है कि उनकी 20 वर्षीय पुत्री गुंजन कुमारी की शादी 31 मार्च 2019 को दमगारा वार्ड- छह निवासी होरील शर्मा के 23 वर्षीय पुत्र सुशील शर्मा के साथ हुई थी। शादी के बाद दामाद दहेज में बाइक के लिए परेशान कर रहा था। इसके बाद उसे बाइक भी दी गई। लेकिन उसकी डिमांड बढ़ने लगी।  कुछ दिन बाद दामाद ने 50 हजार रुपए की मांग की। वह रुपए भी उसे दे दिए। इसके अलावा दुधारू पशु भी दिए। लेकिन दामाद और उसके परिवार की लालच कम नहीं हुई।

आठ माह की प्रेग्नेंट

परिजनों ने बताया कि उनकी पुत्री गुंजन कुमारी आठ महीने के गर्भवती थी। इस बीच शुक्रवार को उनकी पुत्री की गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या करने में दामाद सुशील शर्मा, हीरोल शर्मा और मनिया देवी शामिल हैं। थानाध्यक्ष राजकिशोर मंडल ने बताया कि मृतका के पिता के आवेदन पर महिला समेत तीन लोगों को नामजद आरोपी बनाते हुए हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही हैं। घटना के बाद मृतका के ससुराल वाले घर छोड़कर फरार चल रहे हैं।

दूसरी स्टोरी भी आई सामने
वहीं , घटना को लेकर आसपास के लोगों काका कहना है कि शुक्रवार की सुबह पति-पत्नी में किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। इसके बाद गुस्से में सुशील शर्मा अपना कपड़ा बैग में पैक कर पंजाब जाने की तैयारी करने लगा।  हालांकि परिजनों के काफी समझाने के बाद सुशील ने अपना पंजाब जाने का प्लान रद्द कर दिया। इसके बाद परिवार के सभी सदस्य अपने-अपने काम से घर से बाहर चले गए। जब वह लोग वापस लौटे तो विवाहिता का कमरा अंदर से बंद पाया।  बाद में किसी तरह किवाड़ खोला गया तो देखा कि घर में कपड़ा के सहारे गला में फंदा लगाकर महिला लटक रही थी। इसके बाद महिला के पिता को सूचना दी गई। जब उसके परिजन आए तो अंदरूनी पंचायत भी हुई। ससुराल वालों का कहना था कि वे लोग गरीब हैं। जिस जमीन में घर बनाकर रहते हैं उसे भी बेचकर दे देगें, तब भी पांच लाख रुपए नहीं हो पाएगा। 

इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। शंकरपुर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। पुलिस का कहना है कि पोस्ट मार्टम रिपोर्ट से ही यह स्प्षट हो सकेगा कि महिला की मौत फांसी लगने से हुई है या उसकी गला दबाकर हत्या की गई है।

b


 

Find Us on Facebook

Trending News