दहेज प्रताड़ना : घर के दरवाजे खटखटाती रही बहू, ससुराल वाले खोलने को नहीं तैयार, पति भी नहीं दे रहा साथ

दहेज प्रताड़ना : घर के दरवाजे खटखटाती रही बहू, ससुराल वाले खोलने को नहीं तैयार, पति भी नहीं दे रहा साथ

पटना. जिस ससुराल में कभी मंगल गीतों के साथ अरमान संजोए बहू ने कदम रखा था, उसी में प्रवेश करने के लिए आज बंद दरवाजे की कुंडी पर हथौड़े मारने पड़े. मामला पटना के फुलवारीशरीफ के बिरला कॉलोनी की है. यहां की बहू को अपने ससुराल में प्रवेश के लिए तीन साल तक पुलिस और कोर्ट के चक्कर लगाने पड़े. अंतत: कोर्ट के आदेश के मुताबिक उसे ताला तोड़कर अपने घर मे प्रवेश करना पड़ा. इस मामले को लेकर बिरला कॉलोनी में दिन भर हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा.

ये है मामला

पीड़िता ने अपना नाम जूही चौधरी बताया है. वह खुद को ससुराल से निकाले जाने को लेकर विरोध जताती नजर आईं. ससुराल में प्रवेश को लेकर वह कभी दरवाजा पीट रही थीं तो कभी कॉल बेल बजा रही थीं. इसके बावजूद दरवाजा नहीं खोला गया. अंतत: बहू ताला तोड़कर घर में घुसी. जूही ने बताया कि उनकी शादी तकरीबन साढ़े 3 साल पहले आरा के एकवारी निवासी अजय से हुई थी. जूही का आरोप है कि शादी के बाद ससुराल वाले 5 लाख रुपये दहेज के लिए उन्‍हें प्रताड़ित करना शुरू कर दिया. साथ ही घर से भी निकाल दिया. इसके बाद वह कोर्ट के शरण में चली गयी, जहां से उनके पक्ष में फैसला आया है.

अब जब वह ससुराल रहने आईं हैं तो तो घर का दरवाजा ही नहीं खोला जा रहा है. वह सोमवार सुबह से शाम तक दरवाजा खुलने का इंतजार करती रहीं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इसके बाद उन्‍होंने ताला तोड़कर घर में घुसी. जूही चौधरी के पति जयपुर में किसी निजी कंपनी में काम करते हैं. जूही ने जब इस बाबत पति अजय को फोन किया तो उन्‍होंने जयपुर आकर रहने की बात कही. दूसरी तरफ पीड़िता बहू अपनी ससुराल में रहने के फैसले पर अडिग है. वहीं फुलवारीशरीफ थानेदार रहमान ने बताया कि मामला कोर्ट में चल रहा है.

Find Us on Facebook

Trending News